क्रिप्टो करेंसी मे इनवेस्टमेंट करने से पहले किन बातों को ख्याल मे रखना चाहिए?|Crypto currency me investment karne se pahle kin baton ko khyal me rakhna chahiye?

प्रस्तावना:-

जब क्रिप्टो करेंसी मे इनवेस्टमेंट की बात आती है बिटकॉइन (Bitcoin) इथेरिअम जैसै कॉइन्स का नाम जरूर आता है।आज अमीर लोगों से लेकर सामन्य लोग भी क्रिप्टो करेंसी मे इनवेस्टमेंट करने के लेकर काफी उत्साहित हैं। ऐसे मे क्रिप्टो करेंसी मे इनवेस्टमेंट करने से पहले किन बातों को ख्याल मे रखना चाहिए?|Crypto currency me investment karne se pahle kin baton ko khyal me rakhna chahiye? यह जानना बहुत जरूरी होता है। ये सभी बाते आपको मै इस आर्टिकल मे साझा करने वाले है।

क्रिप्टो करेंसी मे इनवेस्टमेंट करने से पहले किन बातों को ख्याल मे रखना चाहिए?/Crypto currency me investment karne se pahle kin baton ko khyal me rakhna chahiye?

क्रिप्टो करेंसीज को लेकर अभी नीतिगत अनिश्चितता है लेकिन इसमें निवेश को लेकर लोगों के आकर्षण बना हुआ है। ऐसे में Bitcoin, Etherium हो या फिर किसी ओर मे निवेश को लेकर कुछ बातों पर विचार करना जरूरी है, जैसे कि इसे अपने पोर्टफोलियो में कितना रखना चाहिए. क्रिप्टो में निवेश से जुड़े सवालों के जवाब के लिये financialexpress.com ने ‘क्रिप्टो ऐज ऐन एसेट क्लास’ विषय पर 22 दिसंबर को ‘मैनेज योर मनी’ वेबिनार आयोजित किया था जिसमें एक्सपर्ट्स ने सुझाव दिया कि निवेशकों को मौजूदा हालात में अपने पोर्टफोलियो में क्रिप्टो का हिस्सा अधिकतम 5-10 फीसदी रखना चाहिए। उन्होंने निवेशकों को क्रिप्टो में निवेश पर पूरे पैसे डूबने के रिस्क पर ही निवेश की सलाह दी।

क्रिप्टो करेंसी मे इनवेस्टमेंट करने से पहले किन बातों को ख्याल मे रखना चाहिए?|Crypto currency me investment karne se pahle kin baton ko khyal me rakhna chahiye?
क्रिप्टो करेंसी मे इनवेस्टमेंट करने से पहले किन बातों को ख्याल मे रखना चाहिए?

एक्सपर्ट्स ने कहा कि क्रिप्टो में निवेश पर स्थिति सरकारी नीति आने के बाद और स्पष्ट हो जाएगी। मोदी सरकार शीतकालीन सत्र में ही क्रिप्टोकरेंसी को लेकर एक बिल लाने वाली थी लेकिन हालिया रिपोर्ट्स के अनुसार क्रिप्टो करेंसी और क्रिप्टो एक्सचेंज को रेगुलेट करने के लिए सरकार आगामी बजट सत्र में बिल ला सकती है। इस तरह कहने के बाद सरकार क्रिप्टो करेंसी मे इनवेस्टमेंट करनेवाले लोगों को भी टक्स भरना बाध्य किया गया है।

पहले जो क्रिप्टो करेंसी मे इनवेस्टमेंट करते थे और मुनाफा कमाते थे लेकिन ये सारे सरकार को नया पैसा भी नही चुका थे इसलिए सरकार को इस कुछ भी फायदा नही होता था।पहले पहले क्रिप्टो करंसी मे इनवेस्टमेंट करने के लोग भी न के बराबर थे। इससे ज्यादा नुकसान नही झेलना पडता था लेकिन जैसे लोगों को क्रिप्टो करेंसी जैसी डिसेंट्रालैझ्ड करेंसी के बारे मे पता चला तो लोग भी इसमे ज्यादा मात्रा मे इनवेस्टमेंट करने लगे।

पहले भारत को इससे किसी प्रकार के नुकसान नही था लेकिन इसमे इनवेस्टमेंट करनेवाले इनवेस्टर्स की संख्या मे व्रिद्थी हूई। मात्रा सरकार की आमदनी मे बिल्कुल भी इजाफा नही हुई। इस समास्या को दूर भगाने के लिए सरकार ने एक उपाय शोधा जिसके अनुसार इसमे इनवेस्टमेंट करनेवाले लोगों को अपने मुनाफे के लगभग तीस पर्सेंट पैसा सरकार को टॉक्स के रूपमे देना होगा। यह अभी इसमे इनवेस्टमेंट करनेवाले लोग यह ध्यान मे रखना होगा।

यह भी पढे:- Shib inu coin

यह भी पढे:- Cryptocurrency meaning hindi

यह भी पढे:- क्रिप्टोकरेंसी का मैनिंग कैसे करते है?

क्रिप्टो करेंसी मे इनवेस्टमेंट करने के कोनसे रिस्क है?

इसमे कोई भी इनवेस्टमेंट तो कर सकते है, लेकिन कल को कुछ हूआ तो हम किसी को पूछ नही सकते क्योंकि यह अपना भारत मे अभी तक यह लीगल नही है।

  • भारत मे अभी क्रिप्टो करेंसी लीगल नही है,अगर कोई कंपनी किसी को डुबा दी तो इसके जिम्मेदारी सिर्फ इनवेस्टर्स की होती हैं।
  • क्रिप्टो करेंसी मे अनियमितता हमेशा बनी रहती है, यह कहना मुश्किल होता है, कौनसा कॉइन कब नीचे जायगा और कौनसा ऊपर आयेगा।
  • कितने इसमे इनवेस्टमेंट किया और कितने कमाया इसका डाटा सिर्फ अपना पास ही होता है।अगर किसी ने यह काम अपना घर वालों को बताये नही तो पैसे डूबने की अशंका हमेसा बनी रहती है। क्योंकि इस की कोई डाटा सरकार के पास नहीं रहती तो इस केस मे सरकार कुछ नही कर सकता।

क्रिप्टो करेंसी मे निवेश से पहले किन बातों का ख्याल रखना चाहिए ?

क्रिप्टोकरेंसी मे इनवेस्टमेंट करना यह थोडा रीस्की काम है, लेकिन लोग इस तरह के रीस्क लेकर भी अपना पैसा इसमे इनवेस्टमेंट करना चाहते है।कुछ लोगों का यह भी विचार हो सकता है कि,ऐसा कोनसा काम है जिसमे रीस्क न हो। सभी काम काम मे रीस्क होता ही है। इतना ही नही जो ज्यादा रीस्क भरा काम होता है उसी मे ज्यादा रिटर्न मिल सकता है। अगर आप आप क्रिप्टो करेंसी मे इनवेस्टमेंट करने की ठान ही लिया तो आपको कौन रोख सकता है लेकिन आपको इसमे इनवेस्टमेंट करने के पहले कुछ बातों को ध्यान मे रखना होगा।

  • यश के मुताबिक क्रिप्टो करेंसी में पहली बार निवेश करते समय ब्लू चिप क्रिप्टो एसेट्स पर विचार करना चाहिए। क्योंकि इनका मार्केट कैप अधिक होता है जब भी निवेशक अपनी क्रिप्टो करेंसी होल्डिंग की बिक्री करेंगे तो उन्हें आसानी से इसके ग्राहक मिल जाने की संभावना होती है।
  • निवेशकों को रेडिट, ट्विटर जैसे सोशल मीडिया और अन्य इंफ्लूएंशर की सलाह के आधार पर क्रिप्टो की खरीद-बिक्री से जुड़ा फैसला नहीं लेना चाहिए। ये लोग़ कभी कभी गलत भी हो सकते हैं।यह एक बिजनेस है खुद सोच समझकर निर्णय लेना होता है।बिजनेस दुसरों के भरोसे पर नही किया जा सकता है यह सिर्फ अखेले के दम पर किया जाता है।
  • Coindcx के एग्जेक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट (ग्रोथ एंड स्ट्रेटजी) मीनल ठुकराल के मुताबिक निवेश से पहले इसका जवाब खोजना चाहिए कि क्रिप्टो करेंसी में निवेश क्यों करना है।क्या हम इसमे इनवेस्टमेंट करना सही है?यह हमे पहले सोचना पडेगा। अगर आप तुरंत मुनाफे के लिए निवेश करना चाहते हैं या फिर पैसे कमाने के लालच मे आकर इंवेस्टमेंट करने बारे में सोचते हैं तो नुकसान होने की आशंका बढ़ जाती है। क्योंकि आपको इनवेस्टमेंट करने की सही दिशा ही मालूम नही है तो क्या आप इस तरह इसमे सफल हो पाओगे नही ना।इसीलिए पहले सही जानकारी हासिल करना जरुरी है। मीनल ने निवेशकों को क्रिप्टो में लंबे समय के लिए निवेश की सलाह दी है। शुरुआत में 2-5 फीसदी पूंजी के साथ शुरुआत की सलाह दी है और फिर नियमित तौर पर निवेश करने की सलाह दी है।
  • आप पहले क्रिप्टो करेंसी में इनवेस्टमेंट करने के लिए भरोसेमंद एक्सचेंज चुनें न कि किसी ने रिकामंड किया हुआ।मीनल के मुताबिक भरोसेमेंद एक्सचेंज जांच-परख के बाद ही अपने प्लेटफॉर्म पर किसी कॉइन को लिस्ट करते हैं जिससे निवेशकों का रिस्क कम होता है। यह काम एक नये इवेस्टर्स के लिए करना जरूरी है। बहुत सारे नये लोग़ यही फसते है।
  • इनवेस्टर्स को क्रिप्टो एसेट में उपलब्ध टोकन की सीमा को भी देखना चाहिए। जैसे कि बिटकॉइन जैसी कई क्रिप्टो एसेट्स की सप्लाई लिमिटेड होता है यह देखना भी जरूरी है। वही Dogecoin की कोई अधिकतम सीमा नहीं है,यह फरक निवेशकों को देखना बहुत जरुरी होता है। जो भी कॉइन मे इनवेस्टमेंट करते हैं उसकी सप्लाई कम होना चाहिए इससे इस से यह भरोसा होता है कि सामने जाकर इसकी कीमत बढेगी और इस से हमे फयदा हो सकता है।
  • कॉइनकी यूज केस को देखना चाहिए, न कि किसी यूट्यूबर या फिर ब्लॉगर कहने पर नही लेना चाहिए। जैसे की Cardana, ETH, From और Bittorent इन कॉइन्स की यूज है जैसे कार्डानो स्मार्ट कंटॉक्ट के लिए इस यूज किया जाता है तो Bittorent का काम फाईल शेरिंग का है। ये कॉइन्स का सामने जाकर भी कुछ काम है तो इसका मतलब इस तरह के कॉइन्स ले सकते हैं। दुसरी तरफ Shib inu है इसका कोई इतना काम नही केवल मनोरंजन के लिए बनाया है तो इस तरह के कॉइन्स आगे चलेगा या नही इसका भरोसा नहीं है इसका क्या होगा यह हमे आनेवाला समय ही बतायेगा।
  • कॉइन थोडा ट्रेंडिंग मे होना चाहिए होना इससे हमे कॉइन की सारी जानकारी समय समय पर मिलते रहे।
  • निवेशकों को निवेश से पहले कॉइन सप्लाई के अलावा और भी चेक करना होता है जैसे कॉइन की क्रेडिबिलिटी और इसके संस्थापकों पर भी विचार करना चाहिए।
  • क्रिप्टोकरेंसीस मे इनवेस्टमेंट करते समय यह ध्यान मे रखना चाहिए कि जो पैसा मै इसमे इनवेस्टमेंट कर रहा हूँ कल को मार्केट डऊन हुआ तो पूरा डूब गया तो भी कोई परेशानी नही है क्योंकि मैने इसमे केवल दो परसेंट ही इनवेस्टमेंट किया ग है इस तरह सोचना चाहिए। इसमे बहुत सारे लोग पैसा कमाया भी है और गवाया भी है। Terra Luna कॉइन बहुत ही फेमस था इसने बहुत सारे लोगों को फायदा भी दिलाई मगर इसी साल मे 2022 को बहुत सारे लोगों को चुना भी लगया है। इस तरह किसी भी कॉइन कर सकता है इसी लिए कभी भी किसी कॉइन पर भरोसा नही करना चाहिए। इसका मतलब यह नही कि, इसको छोड दिया जाए, इसमे इनवेस्टमेंट करते समय एक एक कॉइन पर रिसर्च करके अपने जो पैसा है उस मे से थोडा थोडा पैसा इन कॉइन्स पर इनवेस्टमेंट करना चाहिए।जैसे मेरे पास दस हजार रपये है दो हजार रपय Cardano दो हजार Tron दो हजार Solona दो हजार Polkadot और दो हजार रूपये The sandbox इस तरह इनवेस्टमेंट करना बहुत जरूरी है इस से नुकसान होने की संभावना कम हो जाती है।कभी एक ही कॉइन मे पूरा पैसा इनवेस्टमेंट नही करना चाहिए।
  • कभी भी ट्रस्डेड Exchange से ही ट्रेडिंग करना चाहिए जैसे Binanace यह इंटरनेशनल क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज है काफी ट्रस्डेड एक्सचेंज माना जाता है। इंडिया की बात करू तो Wazirx एक्सचेंज है यह काफी पापुलर और ट्रस्डेड है।

क्रिप्टो का भविष्य क्या है ?

बहुत सारे लोगों के या फिर नया नया क्रिप्टो करेंसी मे इनवेस्टमेंट करनेवाले इनवेस्टर्स के मन में सवाल आता है कि क्या क्रिप्टो के भविष्य है या नही? इसमे इनवेस्टमेंट सेफ है या नही? दोस्तों आपको एक बात दू क्रिप्टोकरेंसी यह डिसेंट्रालाइज्ड करेंसी है। इस दुनिया मे फ्यूचर मे आनेवाला करेंसी यह क्रिप्टोकरेंसी ही इसीलिए सभी देशों ने इस करेंसी को रेग्यूलेट करना चालू किया है। फ्यूचर मे इस करेंसी सभी राष्ट्र अपने अपने राष्ट्र लिगल करेंसी के स्वीकार करेंगे।इसके लिए समय जरूर लग सकता है लेकिन यह काम भविष्य मे निश्चित रूप से होनेवाला है।

यह भी पढे:- कैसे काम करता शेयर मार्केट?

Disclaimer

इस वेबसाइट (BURLASIR.COM)मे क्रिप्टोकरेंसी के बारे मे जो भी जानकारी दिया यह केवल एज्युकेशन के उद्देश्य से दिया है। क्रिप्टोकरेंसी मे इनवेस्टमेंट करना जोखिम भरा होता है। इनवेस्टमेंट करने से पहले रिसर्च करे और खुद के जिम्मेदारी पर इस मे इनवेस्टमेंट करे।

मेरा नाम Suresh Burla है और यह मेरा ब्लॉग वैबसाइट है जहा मै हिन्दी मे ब्लॉगिंग,शिक्षा,(Education)क्रिप्टोकरेंसी और एस.सी.ओ (seo)जैसी सारी जानकारी देता हूँ। मै कोशिश करूंगा की इस ब्लॉग के जरिये लोगो तक सही जानकारी हिन्दी भाषा मे प्राप्त हो सके । ! साइट पर आने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !

Leave a Reply

You cannot copy content of this page