अपने SEO ब्लॉग को बेहतर बनाने के 7 तरीके | 7 Ways to Improve Your SEO Blog

प्रस्तावना :-

आज मै आपको अपने SEO ब्लॉग को बेहतर बनाने के 7 तरीके |7 Ways to Improve Your SEO Blog इस पोस्ट मे seo के ब्लॉग मे कैसे इंप्रूवमेंट किया जा सकता है या अपने seo ब्लॉग को कैसे बेहतर बनाना है इसके बारे मे बताने वाला हूँ।अगर आप एक ब्लॉगर है इसको पढना पढना आपको लाभदायक होगा।

अपने SEO ब्लॉग को बेहतर बनाने के 7 तरीके | 7 Ways to Improve Your SEO Blog :-

जगत में SEO एक बड़ा मूलमंत्र है। ऐसे कई ब्लॉगर हैं जो जानना चाहते हैं कि वे अपने SEO को कैसे सुधार सकते हैं ताकि उन्हें अधिक ट्रैफ़िक मिल सके। इसलिए बहुत मेहनत करते हैं लेकिन यह मेहनत हमे ब्लॉग बनाने से पहले से ही करना होता है ताकि आगे जाकर हमे अपने ब्लॉग पोस्ट को रैंक कराने मे कोई तकलीफ ना हो।यह लेख ऐसे सात तरीकों पर ध्यान केंद्रित करेगा जिससे आप ऐसा कर सकते हैं! मेरा मतलब आप को इस लेख को पढने के बाद अपने ब्लॉग पोस्ट को कैसे रैंक कराना है इसका आयडिया थोडा बहुत आ जाएगा।

अपने SEO ब्लॉग को बेहतर बनाने के 7 तरीके | 7 Ways to Improve Your SEO Blog
अपने SEO ब्लॉग को बेहतर बनाने के 7 तरीके

अगर आप एक ब्लॉग बनाने जा रहे है तो इस लेख को जरूर पढना होगा क्योंकि मै इस पोस्ट मे ब्लॉग बनाने के पहले क्या करना चाहिए इसका जिक्र किया है। आप एक नया ब्लॉग बनाया है और काम भी कर रहे हैं लेकिन ट्राफिक नही आ रहा है तो इस पोस्ट को जरूर पढे।

What is SEO? in hindi

एसईओ के तात्पर्य सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़ेशन है। यह मार्केटिंग का एक लोकप्रिय तरीका है जो एक वेबसाइट को सर्च इंजन में इस तरह प्रस्तुत करता है कि जिससे साइट सर्च इंजन मे जल्दी अच्छी तरह रैंक करे। यह अक्सर कीवर्ड, लिंक्स और मेटाडेटा को अनुकूलित करके किया जाता है।

सही डोमेन नाम चुनना/Choosing the Right Domain Name :-

अपने SEO ब्लॉग को रै़ंक कराने के लिए हमे ऐसे डोमेन नेम होगा,जिसमे seo का जिक्र हो। उदा.wseo,seoeasy,badi और seous.इस तरह अपने डोमेन नेम मे seo का वर्ड्स रहना जरूरी है जिससे वेबसाइट या ब्लॉग जल्दी गूगल मे रैंक हो सकता है क्योंकि अपना नीश या मेन किवर्ड अपना ब्लॉग के डोमेन नेम मे ही है।

डोमेन नेम मे नंबर्स होना, या डोमेन नेम ज्यादा लंबा होना जैसे seoblogrankanyonehindi इस तरह नही होना चाहिए। इस तरह के लंबे नाम से ब्लॉग का यु.आर.एल.याद रखने के लिए यूजरको भी परेशानी होगी और ब्लॉग का यू.आर.एल. ऐसा होना एह.ई.ओ के हिसाब से भी सही नही है। ब्लॉग का टैटल 65 से लेकर 75 लेटर्स का होना एस.ई.ओ.(seo )हिसाब से सही है और इसके साथ साथ permalink भी छोटा होना चाहिए। permalink मे 65 लेटर्स का होना जरूरी है, यह सीधा एस. ई.ओ से संबंधित है.

मानलीजिए किसी का ब्लॉग का डोमेन नेम का यू.आर.एल.https://www.seoblogrankanyonehindi इस तरह है और इसका किवर्ड ‘ब्लॉग का ऑनपेज एस.ई.ओ.कैसे करे?’ Blog ka on page seo kaise kare? hindi तो इनका पोस्ट का permalink ऐसा कुछ नजर आयेगा https://www.seoblogrankanyonehindi/blog ka on page seo kaise kare? hindi अगर आप इस permalink को ठीक से देखने से यह पता चलता है कि, इसमे जो लेटर्स है वो 65 से ज्यादा है। 65 से जो ज्यादा लेटर्स है वो इस.ई.ओ.(seo) के हिसाब से बिल्कुल सही नही है.और इतना ही नही अपने ब्लॉग को रैंक कराने के लिए अगर आपका ब्लॉग हिंदी का है तो हमे अपना ब्लॉग का का टैटल मे हिन्दी वर्ड्स आना जरूरी है जिससे ब्लॉग प्रोफेशनल लगता है।

अपने SEO ब्लॉग को बेहतर बनाने के 7 तरीके | 7 Ways to Improve Your SEO Blog
अपने SEO ब्लॉग को बेहतर बनाने के 7 तरीके

‘ब्लॉग का ऑनपेज एस.ई.ओ.कैसे करे?’ Blog ka on page seo kaise kare? hindi इस तरह अपना ब्लॉग का टैटल गूगल मे दिखना जरूरी है लेकिन कभी कभी यह लंबा हो सकता है इसलिए हमे कुछ पार्ट्स को छोडना पडता है।ऐसा ही नही अपने ब्लॉग का पर्मालिंक हिंदी मे ही रखे, हम हिंदी पर्मालिंक को को रख नही सकते क्योंकि यह लिंक अच्छा नही लगता. यह केवल देखने के लिए नही एस.ई.ओ. के हिसाब से भी गलत है। इन सभी को ध्यान मे रखकर हमे अपने लिए एक सही डोमेन नेम लेना चाहिए।

अपने डोमेन नेम मे अपना ब्लॉग का(Niche) होना ही चाहिए ऐसा कोई जरूरत नही है इसके बगर भी ब्लॉग को रैंक किया जा सकता है, लेकिन इसके लिए हमे थोडा समय लगता है। इस तरह का ब्लॉग को गूगल मे रै़ंक कराने के लिए एक दो साल भी लग सकता है।अगर अपना नीश अपना डोमेन नेम है तो ब्लॉग पोस्ट रैंक करने की संभावना हमेशा बने रहते है।

यह भी पढे:- ब्लॉग के कितने प्रकार होते है?

अपने ब्लॉग सामग्री का अनुकूलन/Optimizing Your Blog Content:-

ब्लॉग मे जो कंटेंट पब्लिश किया जाता है वह प्रापर्ली optimized होना चाहिए। search engine के हिसाब से होना चाहिए। हम अपने कंटेट मे यूजर के क्या इंफरमेशन दे रहे हैं यह सर्च इंजन सही तरीके से समझाना पडेगा,इसके लिए ब्लॉग मे सही तरीके से on page seo करना पडेगा।

अपने SEO ब्लॉग को बेहतर बनाने के 7 तरीके | 7 Ways to Improve Your SEO Blog
Improve Your SEO Blog
  • Permalink मे पोस्ट का नाम होना चाहिए और इसके साथ साथ पर्मालिंक एस.ई.ओ.फ्रेंडली होना चाहिए और यूजर फ्रेंडली होना चाहिए
  • Meta title मे main keyword होना चाहिए
  • Meta description मे main keyword होना चाहिए.
  • फोकस किवर्ड को बोल्ड करना चाहिए ताकि सर्च इंजन समझने मे आसान हो।
  • इमेज का alt text मे अपना ब्लॉग का पोस्ट का नाम लिखना चाहिए।
  • सही ढंग से इंटरनल लिंक्स (internal links) देना जरूरी हैं।
  • अपने ब्लॉग पोस्ट मे कम से कम एक External dofollow link देना चाहिए।
  • सही तरीके से हेडींग और पॉराग्राफ देना जरूरी है जिससे कि अपना ब्लॉग पो्स्ट यूजर फ्रेंडली हो जाए।

अतिथि ब्लॉगिंग का मूल्य/The Value of Guest Blogging :-

अपने ब्लॉग पोस्ट को रैंक कराने के लिए एक अथारिटी ब्लॉग मे Guest Post शेअर करना होगा। अपने ब्लॉग के जो टॉपिक(Niche)है उसी Niche के ब्लॉग पर गेस्ट पोस्ट शेअर करना होगा इससे हमे एक क्वालिटी बबॉकलिंक मिलेगा।इससे अपना ब्लॉग थोडा जल्दी रैंक होने की संभावना बढ जाती है।

ब्लॉगिंग मे पहले भी Guest post को गूगल और बाकी के सर्च इंजन्स किसी ब्लॉग(पोस्ट) को रैंक कराते समय गेस्ट पोस्ट देखा करते थे आज भी देखते हुए नजर आते है। गेस्ट पोस्ट से गूगल यह समझता है कि,इस ब्लॉग मे अच्छे कंटेंट होंगे क्योंकि अपना गेस्ट जिस ब्लॉग मे है उस ब्लॉग पर गूगल या फिर बाकी के सर्च इंजन भरोसा रखते हैं। इसलिए ऐसा ब्लॉग पर ही गेस्ट पोस्ट पब्लिश करे जिस पर गूगल या बाकी के सर्च इंजिन्स के भरोसा हो।

लंबी फॉर्म सामग्री (कंटेंट) की शक्ति/The Power of Long Form Content:

अपने ब्लॉग को या ब्लॉग पोस्ट को रैंक कराने के लिए बाकी ब्लॉग के मुकाबले कुछ नया होना जरूरी है जिससे यूजर का जरूरत भी पूरा हो और इसी के साथ साथ अपने ब्लॉग पोस्ट रैंक कराने के लिए मजबूर हो जाए। इसके लिए हमे अपने ब्लॉग पोस्ट के ओर थोडा ध्याना होगा। ब्लॉग पोस्ट कभी भी तीन सौ या इससे कम वर्ड्स का अपना ब्लॉग मे पब्लिश करना नही चाहिए। इस तरह के कंटेंट को गूगल thin कंटेट तो समझता तो है लेकिन इसके साथ साथ यूजर भी इस तरह कंटेंट से अट्रैक्टिव नही हो जाता है।

अपने SEO ब्लॉग को बेहतर बनाने के 7 तरीके | 7 Ways to Improve Your SEO Blog
अपने SEO ब्लॉग को बेहतर बनाने के 7 तरीके

अगर कंटेट की लेंथ भी ज्यादा है और इसके साथ साथ सटीक जानकारी भी है तो अपने कंटेंट को पढनेवाले लोग जरूर शेअर करेंगे। इस तरह लंबे कंटेंट से ट्राफिक भी आता है और लोग भी इस तरह के ब्लॉग को पसंद करते है। इसलिए ऐसे किवर्ड को टर्गेट करना है जिसके ऊफर लंबे कंटेट पब्लिश किया जा सकता है।

ब्लॉग पोस्ट रैंक कराने के लिए बाकी के ब्लॉगर्स से कंपटीशन नही करना चाहिए :-

बहुत सारे ब्लॉगर्स अपने ब्लॉग पोस्ट रैंक कराने के लिए बाकी के ब्लॉगर्स से कंपटीशन करते हैं वे सोचते है कि,अपने पोस्ट को पहले नंबर पर लाने के लिए फस्ट नेंबर पर रैंक करनेवाला पोस्ट को कैसे नीचे लाना है इसके बारे मे सोचते हैं। यह उत्तम ब्लॉगर के सिमटोम्स नही है,क्योंकि हमे यानि एक ब्लॉगर को ऐसा सोचना पढेगा यूजर को अच्छी जानकारी देने मे विफल क्यो होते रहा हू इसके लिए सोचना पडेगा।

अपने मे क्या कमी है इसके बारे मे सोचना पढेगा इस तरह हम अपने सुधारणा लाते है तो अपना ब्लॉग एक दिन जरूर पहले नंबर पर जरूर आयेगा।बस हमें दूसरों के पीछे भागना नही अपने इसमे इंप्रूवमेंट करना उचित होगा।

ट्राफिक लाने के लिए ब्लॉगिंग नही करना चाहिए :-

कभी भी एक ब्लॉगर अपने ब्लॉग मे. ट्राफिक लाने के लिए ब्लॉगिंग नही करना चाहिए बल्कि यूजर का क्वेरी साल्व करने के लिए, उनका समास्या दूर करने के लिए और सही जानकारी प्रोवाइड करने के लिए करना चाहिए। जो नये ब्लॉगर्स होते हैं वे इस पाइंट पर ध्यान देते नही इसलिए अपना ब्लॉग को कभी कभी छोड भी देते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि,अपना ब्लॉग पर ट्राफिक जल्दी आये और अपना कमाई जल्दी हो जाए।

इस ट्राफिक का राह देखने मे ही अपना समय बर्बाद करते हैं अपने ब्लॉग मे सही तरीके से काम करना छोड देते है।क्या इस तरह काम करने से ट्राफिक आयेगा? नही ना इसके लिए हमे थोडा बहुत समय लगता है।हमने जो नीश पर ब्लॉग बनाया है उसी नीश पर बहुत सारे ब्लॉगर्स ब्लॉग बनाया है और सही जानकारी प्रोवाइड करते हैं तो क्या गूगल अपना ब्लॉग पर विश्वास करेगा? नही ना इसके लिए समय लगेगा यह एक ब्लॉगर को ब्लॉगिंग करने के पहले समझ लेना जरूरी है।

नये ब्लॉगर्स आज अपना ब्लॉग बनाते हैं और ट्राफिक की बात करते हैं इतना ही नही दस पोस्ट पब्लिश करने के बाद ट्राफिक कैसे लाना चाहिए इसी के बारे मे सोचते हैं लेकिन ऐसा सोचना सही नही है। गूगल के पास लाखों मे कंटेंट है जिनमे से जो गूगल के हिसाब क्वालिटी कंटेंट है उन्हीं को यूजर के सामने दिखाते हैं।अगर हमने किसी व्यक्ति के बारे मे लिखा है उस के बारे मे कोई जानकारी नही है तो गूगल अपना ब्लॉग पोस्ट दिखाता है।ये सब ध्यान मे रखते हुए पहले एक दो साल तक काम करते रहना है अगर अपना ब्लॉग पोस्ट का क्वालिटी अच्छी है तो जरूर अपने ब्लॉग पोस्ट गूगल पर रैंक करेंगे और अपना ब्लॉग पर ट्राफिक आयेगा।

गूगल के अपडेट पर हमेशा नजर रखना चाहिए :-

अपने seo ब्लॉग को बेहतर बनाने के लिए हमेशा हमे गूगल के और बिंग अपडेट्स पर नजर रखना चाहिए। गूगल वैसा तो एक एक घंटे के बाद कुछ ना कुछ गूगल सर्च के बारे मे अपडेट्स लाते है। वो सारे अपडेट्स कै समय समय पर यूजरके पास पंहुचाना बहुत मुश्किल काम है लेकिन जो सर्च रीजल्ट के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं वो सबसे पहले seo ब्लॉग मे पब्लिश करना चाहिए।यह टॉपिक थोडा मजेदार नही है लेकिन अपने हिसाब से यह काम करना चाहिए।

इस तरह का ब्लॉग मे टीम वर्क की जरूरत हो सकती है क्योंकि यह महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है।अगर यह किसी ब्लॉगर सही ढंग से काम करता है तो seo ब्लॉग को बेहतर बनाने मे हमे समय नही लगेगा। इस तरह अपना seo ब्लॉग मे सुधारना ला सकते या अपने ब्लॉग मे इंप्रूवमेंट कर सकते है।

अगर आपको अपने SEO ब्लॉग को बेहतर बनाने के 7 तरीके | 7 Ways to Improve Your SEO Blog यह पोस्ट अच्छा लगता है तो इस पोस्ट को जरूर शेअर करे।

Suresh Burla Sironcha Di- Gadchiroli State -Maharastra India

Leave a Reply