Blogger in hindi/ ब्लॉगर हिंदी मे :-

प्रस्तावना:-

आपको Blogger in hindi/ ब्लॉगर हिंदी मे इस पोस्ट Blogger क्या है? What is blogger in hindi? यह किसका product है? इससे लोगों को क्या फायदा है?क्या इस से कुछ कमाया जाता है?ये सारी सवालों के जवाब आपको बस एक ही पोस्ट मे मिलने वाले है। अगर आपको ये जानकारी चाहिए तो इस पोस्ट को ध्यान से पढीये वरना अभी के अभी स्किप करके जा सकते हैं। चलिए सीधा मुद्दे पर आता हूँ।


Blogger in hindi/ ब्लॉगर हिंदी मे :-


 Blogger in hindi/ ब्लॉगर हिंदी मे इस पोस्ट मे हम Blogger क्या है और यह किस तरह काम काम करता है?ये सारे सवाल का जवाब विस्तार से देने का प्रयास करूंगा।अगर आपको इसके बारे मे पहले पता है तो भी पोस्ट को पढने का प्रयास जरूर करे।अगर इसके बारे मे आपको पता नहीं है तो घबराने की कोई बात नही है, मै आपको Blogger क्या है? इसके बारे मे मै आपको बताने वाला हूँ चलिए-

 Blogger in hindi/ ब्लॉगर हिंदी मे
Blogger in hindi/ ब्लॉगर हिंदी मे


Blogger  क्या है? What is blogger? in hindi


Blogger यह blogging प्लॉटफार्म है जहां कोई भी इंसान अपना खुद का Blog बना सकते है। इसमे अपना ब्लॉग बनाने के लिए कुछ भी पैसा खर्च करने की जरूरत है।अपने विचार लोंगो तक पंहुचाने के लिए यह एक कारगर तरीका है।कोई भी अपना विचार अपना ब्लॉग के माध्यम से प्रसार कर सकता है।

यह भी पढे:- होस्टिंग क्या होता है?


आपका मन मे एक सवाल जरूर आया होगायह काम तो हम facebook, twitter और अन्य माध्यम से भी कर सकते है तो इसका जरूरत क्या है? मै आपको बता दू ब्लॉग यह एक वेबसाइट ही होता है जहां अपना लोगों तक पंहुचाने का एक मात्र काम नही है इसके अलावा बहुत सारे काम यहां पर किया जाता है। जैसे अपना ब्लॉग को Google Adsense के जरिए monetize करके ब्लॉग से पैसा कमाया जा सकता है? Affiliate marketing के जरिए भी पैसे कमा सकते है।  मैने बातों बातो मे यह कह दिया कि,ब्लॉग एक वेबसाइट की तरह होता है तो आपके मन में सवाल आया होगा ब्लॉग और वेबसाइट मे क्या अंतर है? अगर आपको पता नही है तो चलिए वह भी समझा के बताने का प्रयास करता हूँ।


Blog और (website)वेबसाइट मे क्या अंतर है? What is different in blog and website?


Blog और website मे क्या अंतर है? ब्लॉग और वेबसाइट के लिए  hosting और domain name की जरूरत होती है जैसे Google का domain name www.google.com, amazon का  www.amazon.com इस तरह domain name होता है ठीक इसी तरह एक ब्लॉग का भी डोमेन नेम होता है जैसे  Pavan Agrawal का Seo Tips By Pavan Agrawal का ब्लॉग डोमेन नेम www.deepawaliseotips.com है ठीक इसी तरह Education in marathi ब्लॉग का डोमेन नेम www.educationinmarathi.com है।
आपको अभी यह बात तो समझ मे आयी है कि,ये चार अलग अलग है। Google यह एक दुनिया का बहुत बडा search engine है और Amazon यह एक दुनिया का एक जाने माने e-commerce वेबसाइट है।और दुसरी ओर Seo Tips  By Pavan Agrawal और Education in marathi यह दोनो ब्लॉगस् है।और इसी तरह ये सारे ब्लॉग्स और वेबसाईट्स किसी ना किसी होस्टिंग पे होस्ट रहता है।इन दोनो मे अंतर यह होता है कि,ब्लॉग मे रोज,हप्ते या महिने मे एक (content) पोस्ट पब्लिश करता है।


ब्लॉग मे पोस्ट पब्लिश करने के लिए ब्लॉगर्स अपना पोस्ट पब्लिश करने का समय निश्चित कर देता है उसी समय पर हमेशा पोस्ट पब्लिश करने का प्रयास करते है।ऐसा ही होना एक ब्लॉगर के लिए सही है।


Website मे वेबसाइट का ओनर जब अपना वेबसाइट बनाता है तब ही अपने वेबसाइट मे कौनसी सेवाएं (service) उपलब्ध कराते है इसके बारे जानकारी लिखते है। इसके बाद इसका मालिक बार बार पोस्ट पब्लिश करते नही जैसे कि,ब्लॉगर्स अपने ब्लॉग मे करते है। आज कल वेबसाइट मे भी एक ब्लॉग का आपशन मेनू मे दिया जाता है ताकि अपने वेबसाइट मे होनेवाले बदलाव (changes) के बारे मे युजर को पता चले।

 Blogger in hindi/ ब्लॉगर हिंदी मे
Blogger in hindi/ ब्लॉगर हिंदी मे


 ब्लॉग यह एक वर्तमान(समाचार) पत्र, साप्ताहिक जैसा काम करता है तो वहीं वेबसाइट एक कथा(story),(Navel)कदांबर) की तरह काम करता है। एक बार स्टोरी लिख दिया तो बस हो गया है इसमे बदलाव करने की जरूरत नही है। ब्लॉग एक समाचार एक समाचार पत्र जैसा काम करता है, इसलिए ब्लॉगर्स अपने युजर निश्चित समय पर नये जाकारी प्रदान करता है।  

ब्लॉग के प्रकार- (Kind of blog) 


ब्लॉग के अलग अलग प्रकार होते है, जैसे कि, मल्टीनिश ब्लॉग(multi niche) और केवल single noche ब्लॉग होते हैं। ब्लॉगिंग फिल्ड के एक्सपर्ट ऐसा मानना है ब्लॉगिंग मे जल्दी सफलता पाने के लिए सिंगल नीश(single niche) बेस्ट है। इस प्रकार के नीश मे ब्लॉगर्स को किसी एकी टॉपिक(Topic) पर लिखना पढता है।इस तरह का ब्लॉग मे काम करने के लिए ब्लॉगर को अपने ब्लॉग के नीश के बारे सही जानकारी होना बेहद जरूरी है।


अब आते मल्टीनिश(Multi Niche) पे इस प्रकार का ब्लॉग मे काम करने के लिए ब्लॉगर्स अलग अलग नीश या टॉपिक चुनते है और टॉपिक्स पर काम करते हैं। इस प्रकार के ब्लॉग मे ब्लॉगर बहुत सारे टॉपिक(niches) पर लिख सकता है। इस तरह अलग नीश(niches) टॉपिक्स पर लिखने वाले ब्लॉगर्स को लिखने के लिए किसी प्रकार का समास्या नही है क्यो कि,इनके पास लिखने के लिए बहुत सारे  टॉपिक्स है। ब्लॉगिंग फिल्ड मे जो एक्सपर्ट है उनके मानना है इसमे सफल पाने के लिए थोडा बहुत समय लगता है।


Multi niche ब्लॉग हो या फिर single नीश ब्लॉग हो हमे इसमे लिखना होता है, किसी किसी विषय के बारे समझाना होता है।इसलिए किसी भी विषय मे ब्लॉगिंग करने के लिए हमे(ब्लॉगर्स) अपने ब्लॉग जो नीश(Niche)टॉपिक है उसके बारे मे सही जानकारी होना जरूरी है।


एक ब्लॉग बनाने के लिए पहले क्या करना पढेगा?


एक ब्लॉग बनाने के लिए सबसे पहले एक Domain name किसी Domain provider compny से खरेदी करना पडेगा जिसके लिए हमे ₹500 से 800 रूपये पे करना पडेगा। Domain name provider companies बहुत सारे है जिनमे कोई भी कंपनीसे हम डोमेन खरेदी कर सकते है। Domain provider companies जैसे Godaddy, Bluhost, Namecheap Host gater ये सारे कंपनीयां Domains और Hosting प्रोवाइडर करते हैं। 


आप अपना ब्लॉग WordPress मे बनाते हैं तो यह सब प्रोसीजर करना ही पडेगा, क्योंकि WordPress यह CMS है। CMS का मतलब content management system है जहां हमे WordPress बनाने के लिए कुछ भी नही लेता है लेकिन यह हमे ऐसा कुछ नही जिससे कि,अपना एक ब्लॉग बन सके और यह सही ढंग से चले।अपना ब्लॉग को live करने के लिए हमे होस्टिंग और डोमेन नेम लेनी की जरूरत है। डोमेन नेम और होस्टिंग लेने के लिए हमे पैसा खर्च करना ही पडेगा।


Blogger यह एक ऐसा Blogging का फ्लेटफार्म जहां एक ब्लॉग बनाने के लिए किसी को भी एक पैसा खर्चा करने की जरूरत नही है। Blogger एक ब्लॉग बनाया तो हमे Google Adsense का अप्रोवल भी मिल जाता है और इसी के साथ इस ब्लॉग को Google भी रैंक करता हैं।ब्लॉग बनाने के लिए हमे ना Domain name की जरूरत है ना होस्टिंग खर्चा है। Blogger हमे एक sub Domain देता हैं।अगर आप चाहो तो एक कस्टम domain name भी ले सकते है ले सकते है।


Blogger मे बिना डोमेन नेम और होस्टिंग के अपना ब्लॉग बना सकते है। इससे हमे कुछ खर्च करने की जरुरत नही है अगर ब्लॉग मे ट्राफिक आता है तो हमे  Google Adsense का अप्रोवल भी मिल जाता है जिससे हम पैसे कमा सकते हैं।

Blogger Blog मे क्या और कैसे लिखे?


आपने Blogger मे अपना Blog बनाया है तो आप अपने हिसाब से कुछ भी नही लिख सखते हो, मेरा मतलब यह है कि, अपना मर्जी से नही लिख सकते हैं।बहुत सारे ब्लॉगर्स बताते भी होंगे लेकिन ऐसा हम नही कर सकते हैं।जो गैरकानूनी है वह अपने ब्लॉग मे लिख नही सकते क्योंकि यह गूगल के पॉलिसी के अगेंस्ट है। इस मे पोस्ट लिखने के पहले google के पॉलिसी को समझना जरूरी है।

  1. Blogger ब्लॉग मे adult content पब्लिश नही कर सकते है अगर ऐसा कोई करता है तो google बिना बताए Blog को डिलीट कर देता है।
  2. Drugs जैसे प्रोडक्ट के बारे ब्लॉग मे नही लिख सकते है।
  3. किसी कंपनी या फिर किसी इंसान को नीचा दिखाने के लिए कुछ नहीं लिख सखते है।

कुलमिलाकर बात यह है गूगल समाज जैसा ही काम करता है।समाज मे जो गैर कानूनी है इस तरह की सेवाएं एवं प्रोडक्ट के बारे मे  Blogger blog मे नही लिख सकते है। इसमे हमने जो ब्लॉग बनाया है इसका हम मालिक नही है हम बस इसका राईटर है इसका मालिक ओर कोई है जिसका नाम Google ही है इस बात को कभी भुला नही जा सकता। बस इसमे एक अच्छा ब्लॉग फ्री बना जा सकता है इस गूगल का पॉलिसी के आलावा और कोई सरदर्द नही है।


Blogger ब्लॉग मे कैसे कमाये?


Blogger ब्लॉग मे कमाने के लिए ऐसे बहुत सारे मार्ग उपलब्ध है, जैसे विज्ञापन(advertisement), Affiliate marketing आदी।


विज्ञापन(advertisement) :-


Blogger मे ब्लॉग बनाने के बाद ब्लॉग पर विज्ञापन दिखाने के लिए हम विज्ञापन दिखाने वाले कंपनी के अप्रोवल ले सकते हैं। वे कंपनीयां ब्लॉग के मालिक को पैसे देतें है।इस तरह के बहुत सारे कंपनीज है।

  1. Google Adsense
  2. Media.net
  3. Infolinks
  4. Adsterra
  5. Clickadu
  6. Evada

ऐसे बहुत सारे विज्ञापन के कंपनियां है जिनसे ब्लॉगर्स पैसे कमाते है। ब्लॉगिंग के फिल्ड मे जो आता है वह चाहता है कि, अपना ब्लॉग पर विज्ञापन दिखाने के लिए Google Adsense का ही अप्रोवल ले।इसके लिए बहुत सारे रिजन्स होते है। Google adsense कंपनी बाकी के Ad network कंपनी के मुकाबले पब्लिशर को इमानदारी से और ज्यादा पैसा पे करता है।

यह भी पढे:-ब्लॉग का technical seo कैसे करे?

 Blogger in hindi/ ब्लॉगर हिंदी मे :-
Blogger in hindi/ ब्लॉगर हिंदी मे


Google adsense का अप्रोवल ब्लॉग मे कब और कैसे मिलता है?


Google adsense कंपनी सभी ब्लॉग को अप्रोवल नही देता है। Adsense ऐसे ब्लॉग या वेबसाइट को ही अप्रोवल देता है जो Adsense policy को फॉलो करता है।इसलिए हमे अपना को ब्लॉग को  Adsense approval के लिए भेजने के पहले Adsense policy को ध्यान से पढे। इससे पैसे कमाने के लिए ब्लॉग पर ट्राफिक होना जरूरी है वरना आपका कमाई न के बराबर होगी।

यह भी पढे:-How to use ad blocker in mobile phone


Affiliate marketing:-


Blogger मे ब्लॉग बनाने के बाद हम Affiliate marketing से ही पैसे कमाया जा सकता है जिसके लिए हमे पहले कंपनी से अप्रोवल लेना होता है।ऐसे अप्रोवल देनेवाले बहुत सारे कंपनियां है। इस प्रकार Affiliate marketing से भी कमाया जा सकता है।

Affiliate marketing के लिए अप्रोवल कैसे ले?


Affiliate marketing करने के लिए बहुत सारे कंपनीयां है जैसे- Amazon affiliate marketing, Click bank,Impact और  Quelinks है। इसमे अप्रोवल लेने के लिए सबसे पहले official website जाना पडेगा और जो रिक्वायरमेंट है वह हमे पूरा करना पडेगा। बहुत सारे लोग यानी ब्लॉगर्स Amazon affiliate का ही अप्रोवल लेते है इस लिए Amazon का ही मै थोडासा बतानेवाला हूँ। amazon के affiliate program मे join करने के लिए google के सर्च बार मे amazon associates लिख के सर्च करे जो लिंक सबसे पहले है उसके ऊफर क्लिक करते ही आपको Amazon के affiliate site पर लेकू जाएगा और आगे की आप प्रोसीजर join affiliate program पर क्लिक करके जो आपको  पूछा जाएगा वह पूरा कर लीजिए और अपना अकाउंट बनाके amazon का प्रोडक्ट सेल करके कमिशन ले सकते हैं।


 मै यह बताने वाला नही हूँ कि,amazon मे अकाउंट कैसेबनाए जाते हैं इसके लिए आप गूगल मे सर्च कर लीजिए आपको बहुत आर्टिकल मिल जाएंगे जिससे आपको समझ मे आयेगा। इस पोस्ट मै Blogger वेबसाइट के बारे मे ही बताने का प्रयास कर रहा हूँ।


Blogger website मे ब्लॉग बनाने के फायदे क्या है?


Google अपने यूजर के लिए बहुत सारे प्रोडक्ट फ्री मे लांच किया है उन्ही मे से एक Blogger भी गूगल का ही प्रोडक्ट है जिसमे गूगल अपने यूजर को फ्री वेबसाइट या ब्लॉग बनाने का और उसे चलाने का अवसर प्रदान करता है। बस इसमे अकाउंट बनाने के लिए यूजर के पासा G-mail का एक E-mail अकाउंट होना जरूरी है। इसमे मे ब्लॉग बनाने के लिए गूगल तो पैसे लेते नही तो गूगल होस्टिंग का खर्चा कैसे निकालता है? इस तरह का सवाल आपके मन में आता होगा यह जाहीरसी बात है ऐसे सवाल किसी के भी मन में आता ही है।

यह भी पढे:- Quora क्या है?


गूगल अपने यूजर अपने साथ मे हमेशा बांध के रखने के लिए इस तरह का प्रोडक्ट लांच करते रहते हैं।गूगल यह नही चाहता अपने यूजर कहीं ओर चला जाए।इसलिए गूगल अपने हर तरह ग्राहको अपने पास ही लगभग हर तरह प्रोडक्ट लांच करता है। इस तरह के काम करके मार्केट मे अपने बिजनेस को बचाया रखता है,तभी तो गूगल Bing yahu, yendex इनसे आगे है।अभी कुछ लोगों को यह भी पता नही Google के तरह और भी सर्च इंजिन्स है इस तरह गूगल ने पूरी दुनिया में अपना नेटवर्क बनाया रखा है,इन्ही मे से एक Blogger है। इसमे ब्लॉग बनाके Google Adsense का अप्रोवल लेके कमाते है उसमे से थोडा पैसा गूगल अपना पास रखता है क्योंकि Google Adsense भी का ही है,इससे गूगल का भी थोडा बहुत खर्चा निकल जाता है।

यह भी पढे:-Guest post क्या होता है?


Blogger मे blog या वेबसाइट बनाने के लिए Hosting और Domain name कहीं दुसरे कंपनी से लेनी की जरूरत नही है। इसमे ब्लॉग बनाते ही हमे एक Subdomain name मिल जाता है,जो कुछ इस तरह नजर आयेगा  www.abc.blogspot.com इसमे abc आपका ब्लॉग का URL होगा।


होस्टिंग सर्व्हिस भी हमे दूसरे कंपनी से लेने की जरुरत नही है, गूगल खुद होस्टिंग सर्व्हिस प्रोवाइड करता है।सेक्यूरिटी की बात किया जाए तो गूगल खुद आपका ब्लॉग का सुरक्षा प्रदाना करता है।इसलिए कहा जाता हैं कि blogger blog बनाके हमे छोड देना है बाकी के काम गूगल खुद संभालेगा। WordPress जैसा Open source प्लॉटफार्म मे ब्लॉग बनाया तो ये सभी काम खुद को करना होता है। 

यह भी पढे:-घर बैठे अपने मोबाइल से पैसे कैसे कमाये?


Blogger मे कभी भी आपका ब्लॉग क्रॉस नही होगा क्योंकि इसका होस्टिंग खुद Google प्रोवाइड करता है।इसलिए इसमे ब्लॉग क्रॉस होना ना के बराबर है अगर आप wordpress shared होस्टिंग लेते हो आपका ब्लॉग पर थोडा बहु ट्राफिक आया तो आपका ब्लॉग क्रॉस हो सकता है। यह भी एक Blogger मे ब्लॉग बनाने का फायदा ही है।
ब्लॉग का शुरुआत करने के लिए यह एक अच्छा प्लॉटफार्म है, क्योंकि पहले पहले ब्लॉग बनाया तो पोस्ट कैसे लिखना चाहिए, इमेज कैसे अपलोड करना है, बोल्ड कैसे करना ये सारी बाते समझ मे नही आता इस लिए पहले WordPress जैसा प्लॉटफार्म मे ब्लॉग बनाने के बजाय Blogger बनाना फायदेमंद होगा। WordPress बनाया तो पैसे बरबाद है सकते है।इसलिए ब्लॉगिंग सीखने के लिए इसका इस्तेमाल करना फायदेमंद होगा।


Blogger मै ब्लॉग बनाने से किसी प्रकार की समास्या नही आ सकती है,यहीं WordPress की बात किया जाए तो बहुत सारे प्राबलेम्स आ सकते हैं। ये सारी प्राबलेम्स साल्व करने के लिए बहुत कुछ सीखना पडता है। Blogger इस तरह के कोई प्राबलेम आता नही है। कहते हैं wordpress बहुत सारे plugins मिल जाते जिस के सहारे कुछ भी हम अपना ब्लॉग कर सकते हैं लेकिन जब फ्री की बात की जाए तो बहुत लिमिट रहता है।अगर पूरा सरव्हिस लेना है तो हमे upgrade करना पडेगा जिसके लिए पैसा खर्च करना ही पडेगा। इस तरह का काम blogger.com मे नही है इसलिए मै कहता हूँ blogger blog बनाना फायदा ही है।अगर आप अपना ब्लॉग मे कस्टम domain name ad करना चाहता है तो आप अपने ब्लॉग के लिए यह भी काम कर सकते है।


निष्कर्ष;-


Blogger.com यह एक Google का ही प्रोडक्ट है, जिसमे Google अपने यूजर को ब्लॉग बनाने का ,उसे सही ढंग से चलाने का,अपने ज्ञान बांटने का और पैसा कमाने अवसर देता है। blogger.com Google एक ब्लॉगिंग के प्लॉटफार्म के तौर पर लांच (प्रस्तुत) किया है वह आज भी एक ब्लॉगिंग प्लॉटफार्म से ही जाना जाता है। ब्लॉगिंग को ध्यान मे रखते हूए गूगल इसमे नये फिचर्स जोडते जा रहा है।इतना ही  blogger.com से पैसे कमाने का अवसर भी गूगल अपने यूजर को देता है, इसका फायदा करोडो ग्राहक(blogger) लिये थे, ले रहे है और लेते रहेंगे।


अगर आपको Blogger in hindi/ ब्लॉगर हिंदी मे यह पोस्ट अच्छा लगा तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों शेयर करे और इसी के साथ साथ अपने सोसलमिडिया अकाउंट के प्रोफाइल मे शेयर करे।अगर आप इसी आपको ब्लॉगिंग,SEO, Affiliate marketing के बारे मे जानना है तो इस ब्लॉग सब्स्क्राइब कर लीजिए ताकि आपको जब भी मै ब्लॉग पोस्ट पब्लिश करू तब ही मेरे ब्लॉग के तरफ से नोटिफिकेशन आ जाए,आपको सही समय पर पढने को मिले।

Suresh Burla Sironcha Di- Gadchiroli State -Maharastra India

Leave a Reply