apne blog ko web se kaise jode |अपने ब्लॉग को वेब से कैसे जोडे?

प्रस्तावना:-

apne blog ko web se kaise jode |अपने ब्लॉग को वेब से कैसे जोडे? इस पोस्ट मे मै आपको वेब क्या होता है? What is web? in hindi, वेब और इंटरनेट मे क्या फरक है/what is different in web and internet और अपने ब्लॉग को वेब से कैसे जोडे इसके बारे मे बताने वाला हूँ।चलिए जानते है सबसे पहले वेब क्या होता है?इसके बारे मे जो कि यह internet की दुनिया मे बेसिक नालेज माना जाता है।

वेब क्या होता है? What is web?

वेब एक ऑनलाइन जानकारीयों का नेटवर्क है, जैसे वेब पेजेस,टेक्स्ट,म्यूजिक,फोटोग्राफ,विडोओ,फाईल और animation आदी। इसका मतलब यह है कि,जो भी हम इंटरनेट के माध्यम से अपने मोबाईल फोन, कंप्यूटर, लॉपटॉप और एंड्रॉयड टीव्ही पर कंटेंट देखते है,सुनते है, या फिर पढते है ये सब वेब का ही हिस्सा होता है।वेब अंग्रेजी मे इसे world wide Web भी कह जाता है। वेब पर या world web पर उपलब्ध जानकारी को वेब सरव्हर (web server) स्टोर यानी संग्रह किया जाता है। इन वेब पेजेस को,विडोओ को,फाईल को या आडियो को एक्सेस(access) करने के लिए इंटरनेट की जरूरत होती है। क्या आप जानते है इस प्रक्रिया की शुरुआत कब हुई जिसे हम रोज इस्तेमाल करते हैं, जानते है तो ठीक है,नही तो भी कोई बात नही मै आपको इसके बारे मे शार्टकट मे बता ही देता हूँ।

वेब (world wide Web) की शुरुआत किसने किया?

वेब की शुरुआत सबसे पहले 1989 को Timothy Gerber’s Lee द्वारा किया गया है। यह इन्होने अपने प्रयोग शाला मे ही किया है जिसका नाम CERN है। इसके बाद यह धीरे धीरे पूरे दुनिया मे ही फैल गया। अभी आप लोंगो को यह तो थोडा समझ मे आया है कि,वेब क्या होता है?और इसी तरह वेब की पीछे की बात किया जाए तो यह विभिन्न कंपोनेंट्स (components) पर चलता है।जैसे कि,URL(uniform resources location) http,(hyper text transfer protocol) html (hyper text markup language) अभी हमे इन सारी components के बारे मे थोडासा और भी जानकारी देखना पडेगा जिससे कि,हमे इन components के बारे मे कुछ ज्यादा जानकारी मिले।

यह भी पढे:-social media se back link कैसे बनाए

यह भी पढे:-Ghar baite online apne mobile se paise kaise kamaye?

यह भीअ पढे:-JAA Lifestyle me registration kaise kare)?

What is web url? in hindi

What is web url? in hindi url क्या होता है? “url यह होता है कि,जिससे हम वेब पर उपलब्ध किसी documents को देखने के लिए या फिर एक्सेस (access) करने के लिये इस्तेमाल किया जानेवाला वेस पेज का अड्रेस होता है।” अभी हम इसे और भी आसानी से समझ ने के लिए एक उदाहरण के माध्यम से देखते है जिससे कि,और भी आसान हो जाए। मानलीजिए हमे xyz वेबसाईट को विजिट करन है इसको इंटरनेट या टेक्निकल भाषा मे कहे तो access कहते है। xyz वेबसाइट को एक्सेस करने के लिए हमे www.xyz.com इस तरह कुछ लिखना पडेगा। यह जो www.xyz.com लिखा है यह xyz नामक वेबसाइट का अड्रेस है,हमे यह भी पता है इसको url भी कहा जाता है।

URL का काम यह होता है कि,यूजर को किसी वेबपेज या फिर वेबसाइट का रास्ता दिखाना होता है। यूजर इस अड्रेस का माध्यम से ही वेब पेज या वेबसाइट को एक्सेस कर सकता है। इसलिए हमे URL के बारे मे जानना जरुरी है।

What is http? in hindi

What is http? in hindi http का मतलब Hyper Tex Transfer Protocol यह वेब पेजेस access करने का नियम या कायदा कहा जा सकता है। HTTP के बिना हम वेब पेजेस को एक्सेस नही कर सकते। इसे हम उदाहरण के माध्यम से समझ ने का कोशिश करते हैं, मानलीजिए abc वेबसाइट को विजिट करना है तो हम www.abc.com इस तरह टायप करके सर्च करते हैं जबकि हमे http;//www.abc.com इस तरह टायप करना चाहिए था लेकिन हम करते नही। इस तरह सर्च करने के बावजूद हमे वेब ब्राऊजर मे http://www.abc.com या फिर https://abc.com इस तरह नझर आयेंगे क्योंकि यह एक वेब (world wide web) प्रोटोकॉल या नियम ही माना जाता है।

यह भी पढे:- Technical seo kaise kare?

यह भी पढे :- blog me external links kaise banaye?

what is different http and https? in hindi

what is different http and https? in hindi हमे यह भी जानना है http:// और https:// इन दोनो मे क्या फरक है चलिए बिना समय गवाये यह भी जानते हैं। http को एक secure protocol नही माना जाता है क्योंकि इसमे जो फाईल ट्रांसफर का व्यवहार है इसे किसी थर्ड पर्सन द्वारा हॉक किया जा सकता है।इसलिए google अपने यूजर का सेक्यूरिटी को ध्यान देते हूए इस तरह वेबसाइट को रैंक करता नही।हमे यह समझना जरूरी है जिस वेबसाइट सेपैसे की लेन देन या फिर पर्सनल डॉक्यूमेंट शेयर करते हैं तो हमे यह जरूर चेक करना चाहिए।

Post name
apne blog ko web se kaise jode अपने ब्लॉग को वेब से कैसे जोडे?

HTTPS का मतबल यह होता है कि, (hyper text transfer protocol secure) यह सेक्यूर प्रोटोकॉल माना जाता है।जिस वेबसाइट मे https लगा है उस वेबसाइट को गूगल भी रैंक करता है इतना ही यह यूजर के लिए एक सेक्यूर वेबसाइट माना जाता है। इस तरह का वेबसाइट कोई भी बेझिझक अपने व्यवहार कर सकता है जैसे ऑनलाइन शॉपिंग वगैरे वगैरे ।

What is html? in hindi

What is html? in hindi हमे html क्या होता है इसके बारे मे भी जानना जरूरी है क्योंकि यह भी वेब से जुडे है। html यह कोडिंग भाषा है जिसे आम आदमी पहचान ही सकते इसे पहचान के लिए सीखना पडता है।इस भाषाका इस्तेमाल वेबपेजेस बनाने के लिए किया जाता है।इंटरनेट पर वेबपेजेस इधर उधर ट्रांसफर होता है यह इसी भाषा होता है। जब भी हम कोई query इंटरनेट पर सर्च करता है सर्च इंजन के crawler किसी वेबसाइट को क्रावल करता है वह हमारी भाषा पढ नही पाता इसलिए वेबपेजेस HTML से ही बनाते है। वेबसाइट बनाने के लिए CSS लांगवेज भी इस्तेमाल किया जाता है।

कुछ लोग इंटरनेट और वेब (world wide Web) एक ही समझते हैं लेकिन ये दोनो अलग अलग है,कभीकभार आपके मन मे इस तरह का भी सोच विचार आता होगा, तो कोई बात नही यह भी समझ ने का प्रयास करते है।

What is diffrent internet and (web world wide web) in hindi

अभी हम इंटरनेट और वेब मे क्या अंतर होता यह समझ ने का प्रयास करते है, जैसे हम बोलते है वैसे कभी कभी होता नही इसलिए इस तरह की टेकनिकल बाते जानना यह एक अच्छी इनसान को जरूरी है।

Post name

What is internet? in hindi इंटरनेट क्या होता है? हम लोग रोज इंटरनेट का इस्तेमाल तो करते हैं लेकिन कोई हमे इंटरनेट क्या है?इस तरह का सवाल पूछता है तो हम लोग कभी कभी हडबडाते है, सही जवाब देने मे हमे समय लगता है।इस लिए इसके बारे मे जानना बेहद जरूरी है। इंटरनेट यह होता है कि,जिसमे विश्व स्तर पर फैले कंप्यूटरों का एक बहुत बडा जाल (network) होता है। जितने भी इस दुनिया मे कंप्यूटरस् ,लॉपटॉप और मोबाईल्स है ये सारे एक दुसरे से कनेक्ट है,यह पूरा काम इंटरनेट का ही होता है।

हमारे पास जो कंप्यूटर या मोबाइल है यह अपने पास का भी या दुनिया के किसी कार्नर भी हो ये आपस मे जुडे रहते है।इसी वजह से एक कंप्यूटर से दुसरे कंप्यूटर तक जानकारी आसान जाती है।यह एक बहुत बढा नेटवर्किंग infrastructure जो किसी एक व्यक्ति या संगठन द्वारा संचालित या कंट्रोल नही किया जाता है।यह एक Decentralized प्रक्रिया है जिसमे समय के साथ साथ व्रुद्धि होती ही रहेगी क्योंकि यह फ्री है।

रोज हम अपने facebook या whatsapp का इस्तेमाल करते है तो इसका मतलब साफ साफ है हम भी इस प्रक्रिया मे आ ही गए है। इस तरह इस जाल मे लोग रोज हजारो मे आयेंगे इसका मतलब इंटरनेट से हजार डिवाईस रोज जुडते जाएंगे।

एक कंप्यूटर से बहुत सारे कंप्यूटर्स कनेक्शन है तो इसको इंटरने कहा जा सकता है।

Post name

वेब (world wide web) को इंटरनेट के माध्यम से एक्सेस किया जाता है।किसी वेबसाइट के वेबपेजेस को एक्सेस करना है तो हमे इनटरनेट. की जरूरत पडेगी। वेब यह किसी वेबसाइट का अड्रेस होता है जिसके माध्यम से पेजेस को एक्सेस किया जा सकता है।

इंटरनेट यह एक बढासा दुकान या शॉपिंग मॉल जैसा है है तो वेब यह एक इसमे पार्ट होता है जिसे किसी इंसान या फिर संंघटन द्वारा कंट्रोल किया जा सकता है

वेबपर जो भाषा होती है यानि वेबपेजेस HTML लांगवेज मे होता है जिसे सर्च इंजन समझ लेता है।इस भाषा किसी आम आदमी समझ नाही पाता.है।इसको समझ ने के लिए सीखना पडेगा जिसकी इस्तेमाल केवल वेब के लिए ही किया जाता है।व्यवहार मे इसकी कीमत न के बराबर चलता है।

हम जब किसी वेबसाइट को www.xyz.com इस तरह टाईप करके सर्च करते है तो यह वेब का ही हिस्सा माना जाएगा।क्योंकि हम किसी पर्टिकुलर वेबसाइट को विजिट करते है न कि किसी कंप्यूटर को

वेबसाइट जिस सर्व्हर पर होस्ट है उस सर्व्हर को वेब (world wide Web) कह जा सकता है।उस कंप्यूटर से जितने और डिवाइस कनेक्ट है उन्है इंटरनेट कहा जा सकता है

इंटरनेट और वेब मे जो अंतर है यह समझाना आसान काम नही है क्योंकि ये दोनों आपस मिले है।इतनाही नही इंटरनेट और वेब मे सूक्ष्म फरक है जिसे समझना आम इनसान मुश्किल हो जाता है।

apne blog ko web se kaise jode अपने ब्लॉग को वेब से कैसे जोडे?

अगर आपने अपना ब्लॉग blogger.com जैसा वेबसाइट मे बनाया है तो आपको अपने ब्लॉग को किसी वेब (world wide Web) (इसको आम भाषा मे web server कहते है।) से जोडने की जरूरत नही है,क्योंकि अपना Google का सर्व्हर से जुडा होता है।आपको अपने ब्लॉग मे content प्रोवाइड करना होता है, इस तरह का प्लेटफार्म पर हमे कंटेंट पर ही ध्यान देना होता है।इसके आलावा wordpress जैसा प्लेटफार्म पर बनाया है तो इस तरही का काम करना पडेगा।

WordPress मे अपना ब्लॉग बनाना चाहते हो तो सबसे पहले एका टॉप लेवल Domain और एक काम हमे किसी अच्छी कंपनी से hosting खरेदी करना पढेगा।यस सब करने के बाद हमे अपना डोमेन नेम से होस्टिंग सर्व्हिस को कनेक्ट करना पढेगा तब ही अपना एक ब्लॉग या वेबसाइट बनेगी

यह सब काम करने के बाद अपना वेबसाइट को Google web master मे सबमीट करना पढेगा, यह काम करने के बाद अपना डोमेन नेम या फिर वेबसाइट Google से कनेक्ट हो ज एगा।

निष्कर्ष:-

मैने apne blog ko web se kaise jode अपने ब्लॉग को वेब से कैसे जोडे? इस पोस्ट मे वेबपेजेस क्या होता हैं?और इंटरनेट क्या है होता है ?इसके बारे बताया है।यह तो इतना कठिन नही कोई भी इंसान इस काम को कर सखता है।

अगर आपको apne blog ko web se kaise jode अपने ब्लॉग को वेब से कैसे जोडे? यह अच्छा लगता है तो अपने दोस्तों को शेयर करे। यदि apne blog ko web se kaise jode अपने ब्लॉग को वेब से कैसे जोडे? इस पोस्ट मे कुछ समझ मे नही आया तो कंमेंट करके बतायीये मै आपका कंमेंट का रिप्लाई जरूर दूंगा।

Suresh Burla Sironcha Di- Gadchiroli State -Maharastra India

Leave a Reply