Social media me back links कैसे बनाये?|Social media me Back links kaise banaye?

दोस्तों आज कोई भी ब्लॉगर अपने ब्लॉग को ग्रो करने के लिए अच्छे वेबसाइट्स से back links लेना चाहते है।वैसे तो ब्लॉग मे कंटेट ही किंग होता है,लेकिन बहुत सारे ब्लॉगर्स इसके पीछे ही पडे है।ऐसे ब्लॉगर्स बहुत सारे तरीके से back link बनाते हैं, लेकिन आज मै आपको Social media मे back links कैसे बनाते हैं? मै आपको Social media मे back links कैसे बनाये?|Social media me Back links kaise banaye? इस पोस्ट के माध्यम बताने का कोशिश करूंगा।


Back link का पीछे जो कहानी है यह हमे back link बनाने के पहले समझना बेहद जरूरी है ,क्योंकि इस से ब्लॉगर को फायदा.भी मिलता है और इसके साथ साथ  ब्लॉगर को नुकसान भी होता है। क्या एक ब्लॉगर को ये सारी बातै जानना जरूरी नही है? हां है तो आपको यह पोस्ट पूरा अंततक पडना होगा,क्योंकि यह सब समझने के लिए हमे थोडा ध्यान से पढना पडेगा।Social media me back links कैसे बनाये?|Social media me Back link kaise banaye? इस पोस्ट मे जो नालेज मै शेयर कर रहा हूँ जो शायद किसी आदमी ने आपको अभी तक बताया नही होगा।Social media me back links कैसे बनाते हैं, यह समझ ने के पहले हम Back links क्या होता है इसके बारे मे जानते।


Back link/ बॉकलिंक्स –


 Back links का मतलब यह होता है किसी ब्लॉग या वेबसाईट मे किसी ओर का ब्लॉग या वेबसाइट का लिंक होना। मान लीजिए आपका ब्लॉग पोस्ट का लिंक किसी ओर का ब्लॉग मे लिंक है तो इसका मतलब आपको किसी ब्लॉग से एक बॉकलिंक मिल गया। जिस ब्लॉग से आप बॉकलिंक लिया उस परीणाम आपका ब्लॉग पर जरूर होगा।इससे आपका ब्लॉग का अथारिटी बढ जाती है अगर उस वेबसाईट या ब्लॉग अथॉरिटी ज्यादा है तो, अगर स्पॉम स्कोर ज्यादा है तो आपका ब्लॉग का स्पॉम स्कोर बढ जाएगा जो जो गूगल के हिसाब से अच्छी बात नही है।
अभी  आपको थोडा बहुत समझ मे आया होगा, बॉकलिंक्स क्या होते है और यह करते समय हमे क्या करना चाहिए।और दुसरी बात कभी भी बॉकलिंक्स ऐसे ब्लॉग से लेना है जो अपने ब्लॉग से रिलवंट है इसका मतलब आपका ब्लॉग नीश (टॉपिक) से मिलता जुलता हो।और इसी तरह किसी को बॉकलिंक देते समय हमे क्या करना चाहिए? क्या किसी को भी बिना सोचे समझे बॉकलिंक देना चाहिए? बिल्कुल नही क्योकि जिस ब्लॉग को हम बॉकलिंक दे रहा है वह कैसा यह जानना जरूरी है।ऐसे क्यो? जिस ब्लॉग का बॉकलिंक अपना ब्लॉग मे है तो इसका मतबब यह हुआ कि,हम गूगल को यह बताने का कोशिश कर रहे हैं की, गूगल भाई आप इस ब्लॉग को रैंक करो, युजर को दिखाओ।


आपका ब्लॉग का अथारिटी ज्यादा है तो आपके उफर भरोसा करके गूगल उस ब्लॉग को रैंक करेगा, ब्लॉग पोस्ट मे क्वालिटी है तो गूगल भी खुश हो जाएगा।उस ब्लॉग का पोस्ट मे क्वालिटी का कोई निशाना नही है तो डेफनेटलि यूजर ब्लॉग पोस्ट छोड के किसी दुसरे ब्लॉग पोस्ट को ढूंढेंगे इससे बौन्स रेट बढेगा इस उस ब्लॉग को गूगल निचे लाएगा और गूगल को आपके उफर कोई भरोसा नही रहेगा।अब आपको बात समझमे आयाही होगा बॉकलिंक देने से पहले क्या करना चाहिए। क्या आपको पता है? बॉकलिंक्स के प्रकार कितने होते हैं?कोई बात नही यह शार्ट कट मे बता ही देता।


बॉकलिंक्स के कितने प्रकार होते हैं/ Kinds of back links :- बॉकलिंक्स के कितने प्रकार होते हैं? बॉकलिंक्स मुख्यतः दो प्रकार होते होते हैं।इसमे से एक  Dofollow और दुसरा Nofollow links.

Dofollow links:-

आपने किसी ब्लॉग से बॉकलिंक लिया है तो वह Dofollow भी हो सकते हैं या फिर Nofollow भी हो सकते हैं। Dofollow links यह होते है जिसके माध्यम से ब्लॉगर गूगल को यह बता रहा होता की,आप इस ब्लॉग को यूजर को दिखा सकते हैं।इस तरह की लिंक के माध्यम से पार्टीकुलर ब्लॉग को  रैंक करने के लिए गूगल बाट को बताना होता है।इसलिए हर न्यू ब्लॉगर एक अच्छी ब्लॉग से Dofollow back link लेने के लिए तरस थे।
इस तरह के लिंक से यूजर को कोई लेना देना नही है यह seo के पार्ट है जिसमे technical seo का भी रोल है।ब्लॉग को यानि ब्लॉग पोस्ट को Google search engine के हिसाब से पोस्ट को optimization करना है बस इतना ही है।

Nofollow back links


Nofollow back link यह होते है जिसके माध्यम से गूगल Search engines को यह बताया जाता है कि, आप इस लिंक को Follow मत करो, इसको फॉलो करने की कोई जरूरत नही है।अगर गूगल बाट क्राल करना चाहता है तो कर सकते है, गूगल ही नहीं कोई भी सर्च इंजन हो सभी के लिए यही नियम होता है।इसलिए ब्लॉगर Nofollow link को ज्यादा अहमियत देते नही।ऐसे तो सही मे नही है Fofollow link के साथ साथ Nofollow link भी होना जरूरी होता है।


ब्लॉग के लिए एक ब्लॉगर को Dofollow links के साथ साथ  Nofollow लिंक भी होना जरुरी है। Dofollow और Nofollow links की समतोल होना जरूरी है ऐसा नहीं की अपने ब्लॉग के लिए पूरे Dofollow back links  होना है।कभी भी बॉकलिंक बनाते समय यह ध्यान मे रखना जरूरी होता है कि,ब्लॉग के लिए बॉकलिंक्स कब बनाया जाए? क्या ब्लॉग बनाने के तुरंत बाद बॉकलिंक्स भनाना चाहिए?बिल्कुल नहीं फिर कब बनाना चाहिए? जब भी ब्लॉग मे तीस पच्चीस पोस्ट पूरे हो जाते हैं तब शुरू करना चाहिए।वरना आपका समय बरबाद हो जाएगा। ठीक है अभी Social media मे back links कैसे बनाये?|Social media me Back links kaise banaye? इस पोस्ट को आगे बढाते हूए मेन टटॉपिक पर आता हूँ।


Social media मे back links कैसे बनाये?|Social media me Back links kaise banaye?:-

ठीक है आज का हमारी टॉपिक है Social media मे back links कैसे बनाये?|Social media me Back links kaise banaye?  वैसे तो किसी भी सोसल मिडिया प्लाटफार्म से Dofollow back links मिलते नही है।कुछ लोग दावा करते होंगे की हमे सोसल मिडिया से बॉकलिंक जो मिलता है वो Dofollow होते हैं, लेकिन ऐसा कुछ भी नही है।इस का मतलब यह बिल्कुल नही है हम सोसल मिडिया से बॉकलिंक न ले, ऐसा मै इसलिए कह रहा हूँ की कुछ लोगों का मानना है ज्यादा से जादा हमे Dofollow back link ही लेना है।
ब्लॉग को रैंक कराने के लिए हमे सोसल मिडिया का भी आधार लेना चाहिए।क्योंकि एक नये ब्लॉगर को शुरुआती दौर मे Organic ट्राफीक न के बराबर होता है इसलिए सोसल मिडिया के अलग अलग प्लॉटफार्म मे जाकर अपना अकाउंट क्रिएट करके पोस्ट शेयर करना चाहिए ताकि हमे उससे बॉकलिंक मिल जाए भले ही Nofollow क्यों न हो।इसलिए ऐसे कुछ सोसल मिडिया प्लॉटफार्म के नाम बताऊंगा जिनमे हर नये अपना प्रोफाइल क्रिएट करके back link ले सकते हैं।


Facebook:-


 Facebook अपना अपना अकाउंट बनाना चाहिए और अपना ब्लॉग का पोस्ट शेयर करना चाहिए।इसमे अपना पोस्ट शेयर करने का तरीका थोडा अलग होना चाहिए।इसमे एक लिमिट मे रहकर अपना ब्लॉग पोस्ट शेयर करना चाहिए वरना Facebook अपना अकाउंट बॉन कर सकता है।कभी अपने पोस्ट को किसी ओर का facebook group मे अपना ब्लॉग पोस्ट शेयर करने का गलती करना नही है इस ट्राफीक तो आनेवाला नही बल्कि अपना ब्लॉग का bounce रेट बढ जाएगा। क्यो कि सभी ब्लॉगर अपना पोस्ट कोई पढना चाहिए इस लिए सभी ब्लॉगर्स पोस्ट शेयर करते हैं।क्या आप कभी किसी का ब्लॉग पोस्ट पढे है नही ना, इसी तरह सभी ब्लॉगर्स करते हैं जिससे bounce रेट बढने के बजाय और कुछ नही है।इसलिए हमे खुद का एक Facebook page बनाना चाहिए facebook group बनाना है ताकि अपना शेयर कर सके।जिसको जरूरत है वह कभी ना कभी आयेगा और अपना ब्लॉग पोस्ट पढेगा।


Twitter पर अपना अकाउंट बनायीये :-


Twitter पर अपना अकाउंट जरूर बनाना चाहिए और यहाँ पर अपना ब्लॉग का पोस्ट शेयर करना चाहिए।अकाउंट बनाते समय आपके सामने वेबसाइट का आपशन आयेगा जिसमे आपका ब्लॉग का यु.आर.एल दे सकते जिससे आपको एक Nofollow back link मिल जाएगा।अपना पहचाना का कोई ब्लॉगर है तो उनके साथ Collaboration करके अपने ब्लॉग पोस्ट को उनके अकाउंट मे शेयर करने के बोल सकते है और उनके पोस्ट अकाउंट पर शेयर कर सकते हैं।इससे ट्राफीक के साथ साथ bac klink भी मिल जाएगा।


Pinterest:-


Pinterest यह एक images sharing वेबसाइट है जहाँ पर मिलियनस ऑप मंथली सर्चेस है।अभी का समय गूगल इमेज ज्यादा अहमियत देता है, अभी का जमाना imageऔर Infographics है, इसलिए पिंट्रैस्ट को एक ब्लॉगर के नाते सभी ब्लॉगर्स इसका इस्तेमाल करते है।इसका एक खासियत यह है इसका इस्तेमाल महिलाएं ज्यादा करते है।अमेरिका का जैसा कंट्री मे इसका यूज लोग ज्यादा करते है।आपका ब्लॉग अगर अंग्रेजी मे है तो का इस्तेमाल करना कंपलसरी जैसा है क्योंकि इसका यूजर फॉरेन लोग ज्यादा है।इसीके साथ ब्लॉग अगर अंग्रेजी मे है और इसी के साथ फॉशन, ब्यूटी और होम के बारे है तो आपके लिए पिंट्रैस्ट बहुत फायदेमंद साबित होगा। इसमे अपने पोस्ट शेयर करने का तरीका कुछ ओर है इसलिए आपको गूगल पर यह सर्च करना होगा Pinterest मे अपने ब्लॉग पोस्ट कैसे शेर करे इस तरह टाईप करके ढूंढे आपको बहुत सारे पोस्ट और यूट्यूब विडोज आ जाएंगे जिन्हें देखकर समझ जांएगे।


Pinterest मे अपने ब्लॉग का पोस्ट कैसे शेर करे?यह तो आपको समझ मे आया होगाअभी आपको मै यह समझाता हूं कि, Pintrest |मे अपना अकाउंट कैसे सेट करे।इसमे भी अपना अकाउंट सेटिंग्स करते समय आपको वेबसाटका का url   को भी की कहते हैं जिसमे अपना वेबसाइट का यु.आर.एल पेस्ट करने का आपशन मिलेगा जिससे आपको एक बॉकलिंक मिलेगाPinterest मे अपने पोस्ट पब्लिश करने के पहले आपका bblogbu pintrst बिजनेस   acount me  बदल लिजिए। pinterest यहi एक सर्च इंजन है जिसका इस्तेमाल

Quora :-


Quora पर अकाउंट बनाके अपने ब्लॉग के एक  Nofollow back link बना सकते।और इसी के साथ साथ क्योरा मे पूछे गये सवाल का का जवाब लिखकर अपने ब्लॉग पर ट्राफीक पर ला सकतै है।


Reddit पर अपना अकौट बना के एक ब्लॉग लिए बॉकलिंक के साथ साथ  अपने ब्लॉग पोस्ट को गूगल पर रैकींग कराने के लिए यह करना पडता है।


अगर आपकोSocial media मे back links कैसे बनाये?|Social media me Back links kaise banaye? यह पोस्ट अच्छा लगा तो यह पोस्ट को अपने दोस्तों मे शेयर करे।

Suresh Burla Sironcha Di- Gadchiroli State -Maharastra India

Leave a Reply