blogging ke liye domain name buy karna jaruri hai kya

दोस्तो आज आपको अपने ब्लॉग के लिए डोमेन नेम खरेदी करना चाहिए, या फिर नही और इसके साथ साथ अपने ब्लॉग के लिए एक कस्टम डोमेन नेम की सही मे जरूरत है या नही, इसके बारे मे blogging ke liye domain name buy karna jaruri hai kya इस पोस्ट मे विस्तार से बताने वाला हूँ। अगर आप ब्लॉगींग को लेकर सिरियस है तो आप इस पोस्ट को आखिर तक पढे ताकि इसमे कोई पार्ट मिस न हो सके,जिससे आपको आपको बादमे परेशानी हो सकती है।

ब्लॉगींग करने से पहले ब्लॉगर को ब्लॉगींग के बारे मे बहुत कुछ सीखना पडता है।चाहे जो भी काम हो शुरू करने से पहले जानना बेहद जरूरी है,जिसमे ब्लॉगींग की भी गिनती होती है। ब्लॉगींग को लेकर उतना सिरियस नही है तो इतना रिसर्च करने की जरूरत नही है।सही मे ब्लॉगींग को लेकर सिरियस है, ब्लॉगींग को करीयर के रूप मे देखते है तो आपको इसके पीछे कहानी और आगे की सफर कैसा होगा इसके बारे मे जरूर जान लीजिए ताकि आपको आगे किसी भी प्रकार की समास्याओं का सामना न करना पडे।

blogging ke liye domain name buy karna jaruri hai kya :-

ब्लॉग के लिए डोमेन नेम बाय करना यह ब्लॉगर के ऊपर निर्भर करता है, सब डोमेन नेम से भी ब्लॉग चलता है।खुद गूगल बहुत सारे सब डोमेन्स का इस्तेमाल करता है वो सही तरीक़े से चल रहा है।नये लोग पहले पहले ब्लॉग के बारे कई सुनते है,या गूगल मे कुछ पढते पढतेऑखों के सामने से ब्लॉग का शब्द निकल जाते हैं तो ब्लॉग बनाने के बारे मे सोचते है।कोई पैसै कमाने के चक्कर मे तो कोई अपने हॉबी के वजहसे इस फिल्ड छलांग मारते हैं। गूगल भाई की फ्री प्रोडक्ट मे यानि blogger वेबसाइट मे अपने ब्लॉग बना भी लेते हैं।

कई महीनों के बाद डोमेन नेम, सब डोमेन नेम इसमे अंतर है वो लोगों को समझ मे आने लगता है और अपने मन मे आता है की, अपने ब्लॉग के लिए एक कस्टम डोमेन नेम लेना है।वैसे ब्लॉग तो सब डोमेन से भी चलता ही है लेकिन अपने ब्लॉग देखने वालोंं को लगता है कि, यह जो अपने ब्लॉग के माध्यम से हमे सीखा रहा है, इसका ब्लॉग तो सबडोमेन नेम से चलता है इसने जो बता रहा है यह क्या सही है।इस तरह के सवाल लोगों के मन पैदा होते हैं।

ब्लॉगर प्लाटफार्म ब्लॉगींग के लिए फ्री है, इसमे ब्लॉग बनाने के लिए कीसी भी प्रकार की चार्ज गूगल ने अपने कस्टमर के पास से वसूल नही करता है।बस आपको अपने एक ई.मेल अकाउंट होना जरूरी है. इसके बाद गूगल के सहारे Blogger.com के साईट पर जाकर अपना एक युनिक ब्लॉग बना सकते हैं।इसके लिए हमे ना कोई पैसा लगता है ना ही कोई प्लॉगिन लगता है इसमे आपको बस मेहनत लगता है।

आप ब्लॉगींग को लेकर सिरियस है तो आप Blogger.com मे एक कस्टम डोमेन नेम एड करना चाहिए जिससे अपना ब्लॉग के ऊपर लोगों को ट्रस्ट बढ जाता है।हां मै यह जरूर कहूंगा कि,यह काम आप ब्लॉग शुरूआती दौर मे मत करीए जैसे जैसे आपका ब्लॉग ग्रो होने लगेगा तब आप एक कस्टम डोमेन नेम जरुर बाय करे और अपने ब्लॉग मे एड करे।इससे ज्यादा पैसा खर्चा नही होनेवाला है बस आपको इसके लिए सालाना 500 से लेकर के 1000 रुपये तक खर्च आयेगा।

Domain name kahan se buy kare / डोमेन नेम कहाँ से बाय करे:

डोमेन नेम बाय करने के लिए बहुत सारे वेबसाइटस अवाइलेबल है,जहाँ से डोमेन नेम बाय कर सकते हैं।आपको डोमेन नेम बाय करते समय सोच समझ के बाय करना होगा।डोमेन नेम रिजिस्टर कंपनी ट्रस्टेड होना बहुत ही जरूरी है और इसके साथ साथ थोडा बहुत पूराना होना भी होना चाहिए।क्योंकि अगर कंपनी बीचमे बंद पडी तो आपको बहुत परेशानी हो सकती है ,इसलिए अच्छी कंपनी से लेना ही समझदारी होगी।

डोमेन नेम ऐसा होना चाहिए लोगों को याद रखने के लिए आसान हो, इसके लिए डोमेन नेम ज्यादा लंबा नही होना चाहिए।डोमेन नेम मे किसी भी प्रोडक्ट का नाम नही होना चाहिए।अगर ऐसा है तो आपको अभी कोई नही बोलेगा लेकिन आपका ब्लॉग ग्रो करने लगेगा आपको परेशानी हो सकती है।आपको जिस टॉपिक पर लिखना है उसका मिनिमम दो तीन अक्षर डोमेन नेम मे होना चाहिए।आपका ब्लॉग (rank)रांक होने मे इससे हेल्प मिलेगा।

ऐसा नहीं कि,अपने डोमेन नेम मे अपने नीश का नाम कंपल्सरी आना चाहिए,डोमेन नेम नही भी रहा ब्लॉग rank हो सकता है बस आपका कंटेंट क्वालिटी होना चाहिए।डोमेन नेम बाय करने के लिए कई कपनींयों का लिस्ट दे रहा हूँ।आपको अगर लेना है तो कही ओर जानेकी जरूरत नही है यहां से क्लिक करके मेन वेबसाइट मे जाकर डोमेन नेम बाय कर सकते हो।

इनमे किसी भी साईट मे जाकर आप एक डोमेन नेम बाय कर सकते हैं मै तो रीकमंड करूंगा आप Namecheap ,godaddy,hostinger, या goviralhost मे से ही डोमेन नेम बाय करे,यह आपके लिए अच्छा होगा।

WordPress me blog kaise banaye/ वर्डप्रेस मे ब्लॉग कैसै बनाये :-

वर्डप्रेस ब्लॉग बनाने के लिए हमे होस्टिंग और डोमेन नेम दोनों भी बाय करना पडेगा, इसमे कुछ भी फ्री में नही मिलेगा।वर्डप्रेस एक ब्लॉगींग के फ्री ओपन सोर्स है, जहाँ कोई भी अपना ब्लॉग या वेबसाइट बना सकते हैं लेकिन हमे जैसे ब्लॉगर मे होस्टिंग और सब डोमेन नेम फ्री मे मिलता था वो हमे यहाँ पर नही मिलेगा। आपको एक प्रोफेशनल ब्लॉगर बनना है तो आप वर्डप्रेस के साथ ही जाना होगा।ब्लॉग अपने इच्छा के अनुसार कस्टमाइज कर सकते है।अपने कस्टमर्स अपने ब्लॉग पर आने के लिए ब्लॉग को युजर फ्रेंडली बना सकते हो।

WordPress मे ब्लॉग बनाने के लिए एक डोमेन नेम बाय करना पडेगा जिसके लिए आप को डोमेन नेम सरव्हीस प्रोवाइडर कंपनियों के ओर जाना होगा।अपने ब्लॉग के लिए एक डोमेन नेम होगा यह बाय करते आपको यह भी तय करना होगा की हमे कोनसे कंट्रीज को टारगेट करना है।अपने कोनसे भाषा मे लिखना है,अगर अपने ब्लॉग इंग्लिश मे लिखना है तो डॉट कॉम, डॉट ओ.आर.जी और डॉट नेट जैसे टॉप लेवल परचेस करना चाहिए।

ब्लॉग को सिर्फ किसी स्पेसिपीक कंट्री मे rank करना है तो आपको डॉट कॉम के जगह दुसरे डोमेन नेम लेना हमारे लिए बेस्ट साबित होगा।मानलीजिए आपको अपने ब्लॉग अमेरिका मे ही rank कराना है तो आप आपके ब्लॉग के लिए डॉट यु.एस.डोमेन नेम लेना पडेगा।ठिक इसी अपने ब्लॉग इंडिया के लोगों को ही टरगेट करते है और आपके ब्लॉग मे पोस्ट हिंदी मे ही लिखे जाते है तो आपको बेशक डॉट.इन डोमेन नेम लेना पडेगा।डॉट इन डोमेन यह स्पेशल इंडिया के लिए ही है आपका सर्च इंजिन के माध्यम से किसी को दिखाया गया तो लोग आपका ब्लॉग को पढेंगे इससे आपको फायदा ही होगा।

अगर आपके डोमेन डॉट कॉम का है और आप अपने ब्लॉग मे पोस्ट इंग्लिश मे पब्लिश करते हैं तो कोई प्राब्लम नही है लेकिन आप अपने ब्लॉग मे पोस्ट हिंदी मे पब्लिश करते है तो आपके लिए थोडा प्राब्लेम्स हो सकते है।आपका डोमेन डॉट कॉम के पूरे वर्ल्ड मे शो करता है लेकिन ब्लॉग पोस्ट हिंदी मे है सब लोग हिंदी नही जानते है।लोग आपके ब्लॉग ओपेन होते ही वापिस चले जाते है इससे आपका ब्लॉग का बऊंस रेट बढ जाती है इससे क्या होगा गूगल आपका ब्लॉग कम महत्व देता है इस से ब्लॉग का rankings डऊन हो सकता है।

यह भी पढे-ब्लॉग क्या है?और ब्लॉग के फायदे क्या है?

ऐसा नही कि,अपने ब्ब्लॉग मे हिंदी मे पोस्ट पब्लिश करनेवाले लोग सिर्फ डॉट इन डोमेन नेम ही ले, कोई भी डोमेन नेम ले सकते हैं अभी वर्डप्रेस ब्लॉग मे लॉंगवेज को ट्रांसलेट करने वाले प्लगिन मिल जाते हैं और थोडा रहत आपको मिल जाता हैं।

Hosting kahane le / होस्टिंग कहाँ से ले?

होस्टिंग प्रोवाइडर कंपनीज़ आपको बहुत सारे मिल जाएंगे लेकिन आपको अपने ब्लॉग के लिए अच्छी होस्टिंग की जरूरत होती है।इतना नही अपने आपके लिए होस्टिंगर,goviral host यह नया होस्टिंग नये ब्लॉगर्स के यह एक मौका है।अगर आपके पास थोडा अमांऊटज्यादा है तो आप तो आप ब्लूहोस्ट के तरफ़ जा सकते है या फिर नेमचीप इंटरसरवर डॉट नेट यहां से भी ले सकते है।

यह भी पढे-ट्रावेल ब्लॉग बनाने से पहले क्या करे?

आप अपने ब्लॉग के लिए पहले पहले Cheap & best होस्टिग ले जैसे जैसे ही ब्लॉग ग्रो करेगाआपका होस्टिंग सरव्हीस अपग्रेड कर लिजिए आपको किसी भी प्रकार की समास्य नही आयेगी।अगर होस्टिंग बेकार है तो वेबसाइट का स्पीड एकदम कम हो जाएगा,यह एक ब्लॉग और ब्लॉगर के अच्छी बात नहीं है।

क्या एक ब्लॉग के लिए एक कस्टम डोमेन नेम लेना जरूरी है?

आप Blogger मे अपना ब्लॉग बनाते है तो आपको blogspot.com सब डोमेन नेम मिल जाएगा,जिससे अपना ब्लॉग आसानिसे चलेगा।ब्लॉग जैसे जैसे ग्रो होने लगेगा तो आपको अपने ब्लॉग पर ऑडस लगाने की इच्छा जरुर आपके मन मे आयेगा।हो सकता है आप पहले ब्लॉग से कमाने की इच्छा मन मे न रखी हो।ब्लॉग मे ट्रापीक आते ही इस तरह की इच्छा मन मे पैदा जाहीर से बात है आज कल बहुत सारे लोग ब्लॉग इसी परपस से बनाते हैं।गिनेचुने लोग ही अपने ब्लॉग हॉबी के लिए बनाते हैं।

Free domain name :-

आपको ऐसे फ्री मे डोमेन नेम मिल जाते जैसे.tk वैगैरे लेकिन उसके ऊपर ऑडसेन्स का अप्रुवल बिल्कुल नहीं मिलेगा।कभी कभी चार पांच सो के फ्री होस्टिंग सरव्हीस लेकर वर्डप्रेस मे ब्लॉग बनाते हैं।ब्लॉग ग्रो भी हो जाते हैं लेकिन हमे होस्टिंग सरव्हीस कंपनी और डोमेन नेम राजिस्टार कंपनी के ओर किसी भी प्रकार का मदत नही मिलेगा।इसलिए फ्री के साथ कभी भी मत जाए।

अगर अपने ब्लॉग से कमाने की बात की जाए तो ब्लॉग से कमाने के बहुत सारे माध्यम है पहले हम बात करते है ऑडस् की जिससे बहुत सारे लोग कमाते है।

यह भी पढे:-ब्लॉग मे internal links क्या है?

Ad network:-

ऑडस से कमाने के लिए बहुत सारे ऑड नेटवर्क की कंपनीज है जहाँ पब्लिशर की अकाउंट बनाकर ब्लॉग मे ऑडस शो करके पैसा कमाया जा सकता है।मै इस पोस्ट मे ऑडव्हरटाईज कंपनीज की बात नही करुंगा ,एक ब्लॉगर को डोमेन क्ययो लेना चाहिए यह बताने वाला हूँ।अपने ब्लॉग मे ऑडस शो करने की इच्छा सभी की रहती है जिसके लिए सभी पहला चाइस ऑडसेन्स का ही होता है। blogdpot.com मे ऑडसेन्स का अप्रुवल भी मिल जाता है,तब आपको गूगल ऑडसेन्स का अप्रुवल मिलता है जब आपका ब्लॉग गूगल ऑडसेन्स पॉलिसी का न करता हो।यह काम तो आपके ऊपर डिपेंड है डोमेन वोमेन का कुछ भी नहीं है।

ऑडसेन्स का अप्रुवल तो ब्लॉगस्पाट पर मिलता है लेकिन इसके लिए आपका ब्लॉग कम से कम छह महीने पूराना होना चाहिए, तब जाकर आपको ऑडसेन्स का अप्रुवल मिल जाएगा। अगर टॉप लेवल डोमेन है तो आपको बीस दिन के बाद ही अप्रुवल मिल जाएगा।अगर आपका ब्लॉग गूगल पॉलिसी को फॉलो करताहो तो वरना यह संभव नही है।

यह भी पढे-ब्लॉग के पोस्ट Pinterest मे कैसै शेयर करे?

आपके ब्लॉगस्पाट ब्लॉग पर गूगल ऑडसेन्स का अप्रुवल मिल गया, बादमे कई महीनों, या फिर सालों के आप एक टॉप लेवल कस्टम डोमेन बाय करके आपके ब्लॉग से कनेक्ट कर दिया तो फिर से कस्टम डोमेन पर गूगल ऑडसेन्स का अप्रुवल लेना पडेगा।यह आपके लिए बहुत बडी समास्या हो सकती है, क्यों कि गूगल ऑडसेन्स पॉलिसी बहुत ही स्ट्रिक्ट होते है यह हमेशा फॉलो करना हर किसी का बस की बात नही है।

आज जो गूगल ऑडसेन्स का पॉलिसी है वो कल को चेंज हो सकते हैं, जिससे आपको बहुत परेशानी झेलनी पडती है।मेरा कहने का मतलब यह है कि, पॉलिसी और भी स्ट्रिक्ट हो सकते हैं। कभी इस पॉलिसी के वजहसे गूगल ऑडसेन्स का अप्रुवल भी नही मिलेगा,तो हमे दुसरा ऑडनेटवर्क का इस्तेमाल करना होगा तो कुछ कुछ ऑडनेटवर्क वेबसाइटस ब्लॉग स्पाट सब डोमेन नेम के ब्लॉग को अप्रुवल ही नहीं देते,इसलिए एक डोमेन बाय करना अपना ब्लॉग के लिए अच्छा ही रहेगा।

यह भी पढे :-ब्लॉग कैसै बनाये?

स्पॉन्सर पोस्टस् मिलने की संभावना नही रहेगी :-

सब डोमेन नेम ब्लॉग के ब्लॉगर्स को स्पॉन्सर पोस्टस् मिलने की संभावना न के बराबर होते, क्योंकि उन्हें लगता है यह ब्लॉगर अपने ब्लॉग को लेकर सिरीयस नही है।उन्हें ब्लॉग पर कितना ट्रापीक है इससे कोई फरक नही पडता बस उन्हें ट्रापीक के साथ ब्लॉग का डिजाइन,डोमेन अथॉरिटी डोमेन नेम ये सब देखते है।

निष्कर्ष :-

अगर आपको एक प्रोफेशनल ब्लॉग बनाना है और एक प्रोफेशनल ब्लॉगर बनाना है तो आप एक टॉप लेवल डोमेन लेना ही पडेगा।इससे सामने वालों को यह लगता है कि, सही मे यह एक प्रोफेशनल ब्लॉगर बननेका काबिलियत रखता है।अगर अपना केवल हॉबी के लिए बनाना है तो आप सब डोमेन पर ही अपना ब्लॉग आसानिसे चला सकते है।

यह भी पढे:-घर बैठे ऑनलाइन अर्निंग कैसै करे?

अगर आपको blogging ke liye domain name buy karna jaruri hai kya यह अच्छा लगा तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों मे शेयर करे।मैने जो बताने की कोशिश कि,इसमे कुछ कमियां है तो कमेंट करके बतायीये ताकि मै दुबारा इस तरह की गलती से दूर रह पाऊं।



Suresh Burla Sironcha Di- Gadchiroli State -Maharastra India

Leave a Reply