डोमेन क्या है? :Domain kya hai ? ise kahanse buy kare

आज मै आपको डोमेन क्या है? :Domain kya hai ? ise kahanse buy kare इस पोस्ट के माध्यम से डोमेन क्या है?और इसे अपने ब्लॉग या फिर किसी वेबसाइट बिल्ड करने के लिए इसको कहांसे बाय यानि खरीदे इसके बारे मे बताउंगा।

अगर आप अपने लिए ब्लॉग या वेबसाइट बनाना है तो आपको एक डोमेन की जरूरत है, डोमेन बाय करने के पहले हमे यह देखना है कि कोनसे कंपनी से डोमेन लेना चाहिए।यह हमे जानना जरूरी है।अगर आपको ब्लॉग बनाना ही नहीं तो भी इस पोस्ट को जानकारी के लिए पढ लिजिएआपको कुछ सीखने को जरूरमिलेगी।

डोमेन क्या है? :Domain kya hai ? ise kahanse buy kare –

नये नये ब्लॉगर को कभी कभी डोमेन क्या है ? और वह किस तरीकेसे काम करता है?इसके बारे मे भी पता नही होता है।डोमेन वह होता है जिससे ब्लॉग या वेबसाइट किसी ब्रौजर मे ओपन होता है। यह वेबसाइट का युनिक पता(address) होता है,जब भी कोई किसी वेबसाइट को विजिट करते हैं तब उसे वेबसाइट का यु.आर.एल किसी ब्रौजर मे टाईप करके सर्च करना होता है। जिस Url को ब्रौजर के सर्च बार मे टाईप करते हैं उसे वेबसाइट का डोमेन कह जाता है।अभी आपको समझ में आया होगा डोमेन क्या होता है, अगर अभी भी समझ मे नहीं आया कोई बात नहीं, और उदाहरण से समझ ने का प्रयास करते है।

यह भी पढे-वर्डप्रेस ब्लॉग मे थीम्स कैसे इनास्टाल करे?

असल में वेबसाइट आयपी अड्रेस से चलता है लेकिन यह याद रखना किसी के लिए भी परेशानी होती है इसलिए इस समास्या को दूर करने के लिए या फिर इससे छुटकारा पाने के लिए डोमेन नेम का अविष्कारकिया गया है जो आज भी चल रहा है।पहले पहले वेबसाइट आयपी अड्रेस चलते थे लेकिन अभी ऐसा नहीं हैं।जैसे हम किसी से व्यक्ति से बात करने के लिए या फिर संपर्क में रहने के लिए आज हम क्या करते हैं उनके मोबाइल नंबर ले लेते हैं और अपने मोबाइल में फोन नंबर को व्यक्ति के नाम से ही सेव कर लेते हैं लेकिन हम ऐसे क्यों करते है? क्यों की हमे नंबर याद नहीं रहता लेकिन व्यक्ति का नाम तो हमें याद रह सकता है।

यह भी पढे- ब्लॉगिंग क्या होता है?

फोन काल तो व्यक्ति का नाम से नहीं नंबर से चलता है ना,लेकिन हम नंबर को नहीं व्यक्ति का नाम ही याद रखते हैं और इससे अपना काम भी हो जाता है, ठीक कुछ इसी तरस डोमेन आईपी अड्रेस के साथ काम करता है लेकिन हमे डोमेन दिखता है आईपी अड्रेस नही लेकिन जो वेबसाइट रन करनेके लिए इसका अहम रोल होता है।बस हमे किसी वेबसाइट का नाम याद रखने के लिए इसका आविष्कार किया गया है।आपको डोमेन ऐसा कुछ नजर आयेगा,www.google.com,www.edu2017.com, www.amazon.com,www.wordpress.com ,www.bloggingpro.com, www.hindime.net, www.wordpress.org.www.mpl.live, www.amazon.inआदि।

Domain extension-

अभी आप को इस मे नजर आ रहा होगा हर डोमेन नेम मे .com,.in,.Org,.Live,. net है ना बराबर इन सभी को टेकनिकल भाषा मे extension कहते है लेकिन हमें सबसे ज्यादा extension.com का हमे नजर आते हम अपने भारत के बारे मे बोलू तो हमे अपने भारत में.com.और . in का extension ही नजर आते हैं।.com domain को पूरे जग मे Top level डोमेन कहते है। .in domain यह अपने कंट्री के लिए ही बनाया है।.in डोमेन को अपने इंडिया के शिवाय किसी देश में ईस्तेमाल नही करते है क्योंकि यह एक specific domain है बस यह इंडिया के लिए ही बनाया है। ये सब बातें समझनेके बाद हमे Domain kya hai ? ise kahanse buy kare और कोनसा extension domain लेना है इसको लेकर परेशानी नही होगी।अभी आपको Domain kya hai ? ise kahanse buy kare यह थोडा बहुत समझ मे आया होगा,लेकिन अभी थोडा विस्तार से जाननेकी कोशिश करेंगे।

किसी स्पेसीपीक कंट्री के लिए बनाया है, अपने वेबसाइट को किसी पार्टिकुलर कंट्री मे अपने वेबसाइट राँक करने के लिए इस तरिके का इस्तेमाल करते हैं। ऐसा नहीं की . in डोमेन केवल अपने भारत मे ही चलता है बाकी कंट्री मे नहीं हां लेकिन.in domain अपने भारत के तुलना में थोड़ा बहुत कम चलता है बस इतना ही फरक है और कुछ भी नहीं है।ऐसे बहुत सारे extensions हैं लेकिन इनमे कुछ top level domain extensions हैं।

  • . com domain extension
  • .org domain extension
  • . net domain extension
  • . edu domain extension
  • .tech domain extension

ये पांच डोमेन extension top level डोमेन extensions माना जाता है ये एक्सटेंशन वाले डोमेन कीसी भी देश में रांँक करते हैं और एक बात ये डोमेन एक्सटेंशन बहुत लोग जानते हैं इसलिए इन्हें लेना वेबसाइट के ओनर के लिए थोडा फायदा होगा।ऐसा देखा जाए तो सारे डोमेन एक्सटेंशनस एक जैसे ही काम करते हैं इसमें कोई फरक नही रहता है बस अपने तसल्ली के ऐसे करते हैं।

यह भी पढे- WordPress मे Menu और Cotegories कैसे creat kare?

अपने domain के साथ कोनसा extension होना चाहिए-

मैने इस पोस्ट मे कई बार जिक्र किया है कि डोमेन एक्सटेंशन लगबग एक जैसे ही काम करते हैं यह बात सौ परसेंट सही है,लेकिन हमें वहीं डोमेन एक्सटेंशन लेना है जो लोग पसंद करते हैं क्योंकि हर ब्लाँगर कुछ कमाना चाहते हैं तो इसके लिए ब्लॉग पर ट्रापीक आना जरूरी है।यह काम तब संभव होगा जब आपके ब्लॉग लोगों मे पापुलर होता है।इसलिए आपको नया ब्लॉग बनाने के लिए.com domain ही लेना चाहिए क्योंकि किसी भी वेबसाइट मे आखिर.com ही होता है ऐसे लोगों को पता है इसलिए लोग आसानी से आपके ब्लॉग पर आते हैं।

कोई भी डोमेन एक्सटेंशन हो काम तो एकी है लेकिन लोगों के दिमाग अभी.com डोमेन एक्सटेंशन है इसलिए हमें.com domain ही लेना है ताकि लोगों के नजर हमारे ब्लॉग में पढे, विजीटर मे कुछ बढोतरी हो।अगर आपको.com domain extension नही मिला तो.in . net domain extension ले सकते है।

डोमेन लेते समय क्या करना चाहिए(Domain lete samay kya karna chahiye) –

अपने ब्लॉग के लिए या फिर अपने वेबसाइट के लिए एक कस्टम डोमेन लेते समय कुछ बातें समझना बहुत जरूरी है यह काम एक ब्लगर को जानना ही पढेगा वरना बाद मे पछताने लगेंगे।

अपने डोमेन नेम मे वेबसाइट का नाम होना बहुत जरूरी है-

जब। भी आप डोमेन अपने ब्लॉग के खरीदने जाते है या फिर ब्लॉग के लिए डोमेन लेते हैं तो आपको यह देखना जरूरी है की अपने ब्लॉग के डोमेन नेम अपने वेबसाइट लिंक तो है ना ?अगर अपने ब्लॉग के डोमेन नेम मे अपना ब्लॉग का नाम है तो अपने ब्लॉग गुगल के द्रुष्टी भी अपने ब्लॉग जल्दी पढेगा।

ऐसा नही रहा तो भी कोई प्राब्लम नहीं है लेकिन अपने ब्लॉग को गुगल मे थोडा जल्दी रांँक करानेकेलिए हमें यह काम करना जरुरी है।ऐसे बहुत सारे ब्लॉगस आज गुगल मे मौजूद हैं जिनके डोमेन नाम अपने वेबसाइट मे मौजूद नही हैं ।जैसे amazonzon.in इसमें आपको डोमेन नेम नजर नही रहा है ।नहीं है भी तो भी अपने काम चल जाता है।

डोमेन नेम मे कम लेटरस हो (Domain name me kam letters ho) –

डोमेन नेम मे कम लेटरस होना चाहिए क्यो की लोगों को आपके ब्लॉग के वेब अड्रेस ढुंढना आसान हो। अगर आलोगों को याद रहे, ईसलिए हमे अपने डोमेन नेम छोटासा रखना बहुत जरूरी है।

डोमेन युनिक हो-

डोमेन नेम युनिक होना बहुत होना चाहिए , लोगों को देखने के बाद और फिर से पहचाने मे किसी भी प्रकार परेशानी न होइसलिए अपना डोमेन युनिक होना जरूरी हैं

डोमेन कैसे और कहांसे परचेस करे-

डोमेन नेम बहुत सारे कंपनियाँ हमे बेचते है यानि अपने सरव्हीस प्रोवाइड करते हैं जैसे www.godaddy.com,. Namecheap.com ,www.hostinger.com ऐसे डोमेन प्रोवाइड करनेवाले हमे हजारों कंपनियों मिल जाते हे। हम अपने हिसाब से डोमेन परचेस कर सकते।

लेकिन मैं अभी आपको godaddy.com से डोमेन कैसे खरिदे इसके बारे मे बताने वाले हूं। आपको एक बात बताऊ बहुत सारे लोग www.godaddy.com से ही लेते हैं इसलिए मै www.godaddy.com काही उदाहरण दे रहा हूं। आपको गुगल क्रोम ब्रौजरwww.godaddy.com टाईप करके सर्च बाक्स के उपर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके सामने ऐसा इंटरफेस आएगा।

इसके बाद हमे उपर मे जो Find your perfect domain पर क्लिक करना होना ,क्योंकि हमें एक नया डोमेन नेम अपने ब्लॉग के लिए परचेस करना है इसलिए हमें क्या करना होगा? इस बाक्स जो हमे डोमेन चाहिए उसे टाईप करके सर्च करें तो आपके सामने नया पेज ओपन होगा। आपके सामने बहुत सारे डोमेन नेम दिखाई देंगे हमने जो डोमेन नेम सर्च किया है या नही यह भी आपके सामने दिखाई देंगे।

Visit our blog website

डोमेन नेम के सामने price भी नजर आएंगे और इसीके साथ साथ डोमेन नेम के सामने Ad cart का अपशन दिखाई देंगे।आपको जो डोमेन नेम परचेस करना उसके सामने ad cart का अपशन है उसके ऊपर क्लिक करना होगा।क्लिक करने के बाद आपको Cart का आपशन डोमेन नेमस लिस्ट आपको दिखाई दे रहा है लिस्ट के उपर आपको नजर आएगा।कभी कभी कभी आपको यह कई ओर नजर आएगा बस आपको यह ढुंढना जरूरी है। ad Cart का आपशन पर क्लिक करते ही सामने कुछ ऐसा नजर आएगा।

इसमें आपको full domain privacy protect,Ultimate domain protection&security और No thanks का आपशन दिखाई देंगे,आप पहले पहले अपने वेबसाइट के लिए डोमेन परचेस कर रहे हैं यह प्लान लेने की कोई जरूरत नहीं है बस No thanks के उपर क्लिक करना होगा।इसक ऊपर क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा।

इसमें आपको लेफ्ट ह़ॉड सईड मे आपने जो डोमेन नेम परचेस कर रहे हैं वह आपको नजर आएगा डोमेन के निचे कितने साल के लिए लेना है यह हमे सेट करना है मै तो कहता हूं आप एक साल ही सेलेक्ट कर लिजिए।और निचे आपको full domain protection &security का आपशन दिखाई देंगे और उसका प्राइस नजर आएगा।आपको यह अभी लेने की कोई जरूरत नहीं है इसलिए आपको सईड मे delet का आपशन दिखाई देंगे उस पर क्लिक करके डिलीट कर लिजिए।

इसके निचे आपको Professional email का आपशन भी आपको नजर आएंगे यह आपको कंपनी के तरफ दिखाई दे रहा है ऐसा बिल्कुल नहीं कि इन्हें कंपलसरी ले ये सारी प्लानस हमें परचेस करना है या नहीं आपके उपर डिपेंड है, मै तो कहता हू आपको अभी लेने की कोई जरूरत नहीं है।इसलिए इसका प्रइस के सामने आपको डीलीट का आपशन दिख रहा होगा उस के उफर क्लिक करके डीलीट कर लिजिए।

ये सब काम करने के बाद आपका डोमेन का प्रइस कम हो जाएगा,पहले बहुत सारे प्लान इनक्लूड थे लेकिन हमने वो पूरे डीलीट करके सिर्फ डोमेन ही सेलेक्ट किया है और दुसरी बात यह हमने डोमेन केवल एक साल के लिए रजिस्ट्रेशन किया है।एक साल पूरे होने के बाद हमें डोमेन फिर से रजिस्ट्रेशन (रिन्यूअल) करना पडता हैं वरना अपना डोमेन नहीं चलेगा यह समझ लेना चाहिए। Domain kya hai? Ise kaise buy kare? इसको लेकर नये नये ब्लॉगर परेशान हो जाते हैं लेकिन परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है।

इस ये प्लानस डीलीट करने के बाद केवल हमें प्रोटेक्शन का बेसिक प्लान मिलेगा यह नये ब्लॉगर के लिए काफी होता है।नये ब्लॉगर आठ सौ खर्च करना बहुत बढी बात होतीं है।इसके बाद हमें सबसे निचे आपको buy now या फिर ad cart का आपशन दिखेगा उसके ऊपर क्लिक करना चाहिए इसके ऊफर क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा।

इसके बाद आपके सामने आप नया हो तो sign up ऐसा दिखाई देगा अगर पहले अपना अकाउंट आपने बनाया है तो sign in का आपशन आ जाएगा तो यह काम आप अपने अकारडिंग कर सकते हैं यानि लागीन या sign up या sign in कर लीजिए।इसके बाद पेमेंट करने के लिए डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट पेमेंट और pay pal ऐसे पेमेंट करने के लिए आपशन आ जाएगा।इसका स्क्रीन शाट मैं नहीं दे सकता क्योंकि पहले मैं डोमेन ले चुका हूं।यह काम आप कर सकते हैं इसमें कोई टेनशन लेने की बात नहीं है।

अभी आपको समझ मे आया होगा Domain kya hai? Ise kaise buy kare? यह काम होने के बाद आप फिर से लागीन करके डोमेन का DNS Managment मे जाके सभी काम कर सकते हैं।

अगर आपको Domain kya hai? Ise kaise buy kare?यह पोस्ट अच्छा लगा तो अपने दोस्तों मे Domain kya hai? Ise kaise buy kare?इस पोस्ट को शेयर करे ताकि ऊन्हे भी सही जानकारी मिले।

Suresh Burla Sironcha Di- Gadchiroli State -Maharastra India

Leave a Reply