ब्लॉगिंग क्या होता है?Blogging kya hota hai?आज ब्लॉगिंग से लोग कैसे कमाते हैं?

आज मैं आपको ब्लॉगिंग क्या होता है? Blogging kya hota hai?आज ब्लॉगिंग से लोग कैसे कमाते हैं? इस पोस्ट के माध्यम से ब्लॉगिंग क्या होता है?Blogging kya hota hai?आज लोग ब्लागिंग से कैसे कमाते है।ब्लाँगर कितने प्रकार होते हैं? ये सभी टापीक पर विस्तार से बताने वाला हूँ।

अगर आप ब्लॉगिंग के बारे मे जानना चाहते है तो इस पोस्ट को अंततक पढे क्योंकि वह सब मै इस पोस्ट मे बता रहा जो ब्लॉगर और ब्लागिंग के बारे मे जानना चाहते है उन्हें मालूम होना बहुत जरूरी है।ये बाते जाने बिना आप ब्लागिंग के फिल्ड मे आ ही नहीं सकते।

ब्लॉगिंग क्या होता है? Blogging kya hota hai?

ब्लॉगिंग वह होता है जो ब्लॉगर के द्वारा लिखा जाता है,ब्लॉगर अपने पास जो जानकारी होता है उसे बहुत सारे लोगों के पास पहुंचाना चाहता है ताकि इस नालेज सही इस्तेमाल हो,इससे लोगों को कुछ फायदा हो, इससे लोग कुछ सीखे।इसके लिए कुछ ना कुछ ऐसा माध्यम हो,जिससे यह जानकारी लोगों के पास जल्दी पहुंच जाए। इसके लिए जो माध्यम चुनता है वह वेब ब्लॉग (जिसे शार्टकट मे ब्लॉग कहते है) है इसमे जो कंटेट(पोस्ट, इमेज और विडीओ) प्रोवाइड करता है उसे ब्लॉगर कहते है।

ब्लॉगर अपने ब्लॉग मे जो जानकारी लोगों के पास पहुंचाना है वो अपने ब्लॉग के माध्यम से रोज या दो- तीन दिनों के बाद ब्लॉग पोस्ट के पहुंचाता है।यह काम एक या दो दिन तक नहीं चलेगी कुछ महीने या साल तक रह सकती है।लोगों के नये नये जानकारी पहुंचाने के ललिए ब्लॉगर दिन रात जानकारी इकट्ठा करते है,और इसमे संशोधन करके अपने अनुभव के साथ अपने ब्लॉग मे जानकारी शेयर करते है

यह भी पढे-WordPress मे themes कैसे इनास्टाल करे?

ब्लॉगिंग करने से पहले ये सारी बाते जानना जरूरी है –

ब्लॉग तो कोइ भी बना सकते है लेकिन इतना ही काफी नही है ब्लॉग बनाने से पहले हमे यह भी जानना जरूरी है की इसको कैसे चलाया जाता है।यह ब्लॉगिंग की प्रक्रिया एक या दो दिन का सफर नहीं है इसलिए ब्लागिंग करने से पहले ये भी जानना जरुरी है-

नीश /टापीक(Nich) चुनना-

ब्लॉग बनाने के बाद हमे नीश चुनना नही है बल्कि पहले चुनना होता है। मैने पहले ही बताया ब्लॉग एक दिन के लिए नही है बहुत सारे दिन हमें ब्लॉग को चलाना है।इसलिए ऐसा टापीक चुनना चाहिए जो लोगों को समझने के लिए अपने लिए आसान हो,जिसमें हम आराम से हजार पोस्ट लिख सकते हैं।क्योंकि ब्लागिंग एक टापीक को टारगेट करके लिखना होता है।

यह भी पढे-Blogger vs WordPress which is best in 2020

अपने ब्लॉग मे कुछ भी लिख ने से पाठक परेशान हो जाएंगे पाठकों को यह समझ मे नही आता की,ब्लॉग में ब्लॉगर क्या बताने जा रहा है। हो सकता है आपका ब्लॉग को छोड़कर कहीं ओर चला जाए।इसलिए एक ही टापीक पर ब्लागिंग करना होगा, जो हमे एक सफलता के रास्ते पर खडा कर देगा। इसमे हमें सफलता पाने के लिए एक ही टापीक को लेकर जाना होगा।

Petions होना जरूरी है-

जो भी इस फिल्ड मे आते हैं वो सब सफल हो जाएंगे ऐसा बिल्कुल नहीं है इसलिए ब्लागिंग हो या फिर और दुसरा कोई भी काम हो उसे शुरू करने से उसके बारे जानना बहुत जरूरी है।ठीक इसी तरह ब्लागिंग मे आने के पहले इसके बारे मे जानना भी जरूरी है।अपने ब्लॉग पैसे अर्निंग करने के लिए हमे कभी कभी हमे इससे कमाने के लिए दो -ढाई साल लग सकता है।

ब्लागिंग के थोड़ा बहुत सुना है तो मैं एक बात बताऊ इस फिल्ड मे आनेवाले लोग करीब करीब नब्बे प्रतिशत लोग कुछ महिने के बाद ब्लागिंग छोड़ देते हैं। पहले पहले अपने ब्लॉग दस पंद्रह पोस्ट लिख थे है और अपने ब्लॉग से तुरंत कमाने के लिए सोच थे है,लेकिन ये काम संभव नहीं है इसलिज मायूस होकर अपने ब्लॉग छोड़ देते है।

यह भी पढे- WordPress मे Menus और Categories कैसे क्रिएट करें?

यह बात हमे पता होना चाहिए अपने जैसे बहुत सारे लोग अपने अपने ब्लॉग खोलके बैठे हैं।गुगल वहीं ब्लॉग को सर्च मे लाता है जो ब्लॉग हमेशा अपडेट होता है,और क्वालिटी कंटेट युजर को प्रोवाइड करता है।ऐसा नहीं की हमनै एक डोमेन खरीदा और दो चार पोस्ट लिख दिया तो अपने ब्लॉग गुगल मे रांँक हो जाए ।गुगल मे रांँक होने के लिए ब्लाँगर को कडी मेहनत करना पडता है।

ब्लॉग के प्रति खुद को समर्पित करना चाहिए-

ब्लाँगर अपने ब्लॉग के प्रति खुद को समर्पित करना चाहिए, पहले पहले ब्लाँगर कमाई के पीछे नही जाना चाहिए मेरे पास जो नालेज है उसे अपने ब्लॉग के थ्रो लोगों के पास पहुंचाना मेरा काम है।चाहे कुछ भी हो जाए मै निरंतर ब्लागिंग करते रहुँगा इस तरह ब्लाँगर अपने ब्लॉग के प्रति खुद को समर्पित करना चाहिए।

ब्लागिंग शुरू करते ही अपने ब्लॉग पर लोग पढने आएंगे ऐसा बिल्कुल नहीं है इसके क्षमे थोडा बहुत समय तो लगेंगे।अगर अपने ब्लॉग पो्स्ट क्वालिटी कंठेट हैं तो निश्चितच अपने ब्लाग मे विजीरस आएगें,लेकिन हमे निरंतर काम करना पडता है।

यह भी पढे-WordPress मेplugins कैसे इनास्टाल करे?

अगर ये सब क्वालिटी आपके पास है तो आप अपने करियर बनाने के लिए ब्लागिंग के क्षेत्र मे आ सकते है अगर आप बिना सोचे समझे इस फिल्ड मे आ जाते हैं तो आपको निश्चित रूप से परेशानी हो सकती है।इसलिए आपको ये जानना बहुत जरूरी है।

ब्लॉग के प्रकार:Blog ke prakar-

आप ने अभी ब्लॉगिंग क्या होता है?Blogging kya hota hai?इसके बारे मे थोडा बहुत जानकारी हासिल की,तो अभी देखते ब्लागिंग के कितने प्रकार होते हैं-

जनरल ब्लॉग-

ब्लागिंग के प्रकार दो हैं जिसमें एक जनरल ब्लॉग है, इस प्रकार के ब्लॉग मे ब्लाँगर एक नही एक से ज्यादा सबजेक्ट पर ब्लागिंग करते हैं।इसमे किसी एक टापीक के ऊपर ब्लाँगर लिखते नहीं।जो अपने मन मे आया है वह अपने युजर तक पहुंचाने का काम जनरल ब्लॉग मे ब्लाँगर करते है

जनरल ब्लॉग मे जो जानकारी चाहिए वो सब जनरल ब्लॉग से अपने युजर तक पहुंचाने काहर हर संभव प्रयास ब्लाँगर के ओर से किया जाएगा।इसमे ब्लाँगर जो चाहे वह लिख सकते हैं ऐसा बिल्कुल नहीं की जनरल ब्लॉग ब्लाँगर कुछ भी लिखते है।जो अच्छी जानकारी है होई लिखते हैं, जो अपने युजर को पसंद ह़ो।

नीश ब्लॉग-

नीश ब्लॉग मे ब्लाँगर किसी एक नीश पर यानी किसी एक टापीक को टारगेट करके अपने ब्लॉग में कंठेट प्रोवाइड करता है।अपने नीश को छोड़कर अपने ब्लॉग मे कंटेंट डालते नही क्योंकि पहले से प्लानिंग से ही काम करते हैं।इस तरह का ब्लॉग मे काम करने के लिए ब्लाँगर के पास अच्छी नालेज होना बहुत जरूरी है, क्योंकि इसमें अपने टापीक को छोड़कर नहीं जा सकते हैं।

नीश ब्लॉग के कई उदाहरण-Blogging,hosting Car ,mobail phone आदि ये कुछ नीश ब्लॉग के उदाहरण है अगर हमे मोबाइलफोन के बारे मे बताना है तो सिर्फ हमें मोबाइल फोन के बारे मे ही बताना पढेगा बाकी हमे कुछ भी बताने की जरूरत नहीं है

इसमें मायक्रोनीश भी रहते हैं इसमे कुछ उदाहरण देखिए montex Pen, Maruti car,web hosting इसमे देखिए. Pen एक नीश हैं तो Montex Pen यह एकमायक्रोनीश हैं।

ब्लाँगर के प्रकार :Blogger ke Prakar-

ब्लाँगर के भी दो प्रकार है-
Habby Blogger-

कुछ लोग अपने अनुभव शेयर करने के लिए या फिर कुछ स्टोरीस लिख ने के लिए अपने ब्लॉग बनाते हैं और ब्लागिंग करते हैं।इन लोग ब्लगिंग को कमाई के द्रुष्टी से बल्कि अपने हाबी के द्रुष्टी से देखते है।इस तरह जो ब्लाँगर ब्लागिंग करने के लिए आते हैं तो कोई प्लानिंग के साथ नही आते वैसे ही आते हैं।

इस ब्लागिंग मे प्रवेश करने वाले ब्लाँगर रिटायर मेंट आफिसरस होते हैंअपने अनुभव नये पिढी के साथ शेयर करने के लिए आते हैं और अपने अनुभव नियमित रूप से अपने ब्लॉग मे शेयर करते हैं इसमें कुछ उदाहरण -अमिताभ बच्चन इन्होंने अपने अनुभव शेयर करने के लिए ब्लागिंग करते हैं ना कि पैसे के लिए।

Professional Blogger-

Professional Blogger वह होता है जो ब्लागिंग को अपना करियर समझते हैं, ब्लागिंग करके अपने फामिली के लिए कुछ अपने ब्लॉग के माध्यम से कमाना चाहते हैं। Professional Blogger ब्लागिंग के फिल्ड मे ऐसा ही नहीं आता ब्लागिंग करने के पहले ब्लागिंग के बारे जानकारी इकट्ठा करते हैं और ब्लागिंग मे आते हैं।

Visit our site-www.edcationinmarathi.com

ब्लागिंग करने के लिए कुछ पैसा इनवेस्टमेंट भी करता है जैसे की Domain, Hosting, keyword researchआदि के लिए पैसा खर्च करता है।और दिन रात मेहनत करते हैं और अपने ब्लागिंग करीयर को आगे बढाता हैं।अपने पोस्ट को गुगल के पस्ट पेज मे रांँक करने के लिए दिनरात मेहनत करता है।

ब्लॉग से पैसे कैसे कमाते हैं-

ब्लागिंग से ब्लाँगर बहुत सारे तरिके से कमाते हैं लेकिन इसमे ये कोनसे तरीके हैं देखिए-

Advertisement

Contents Subscription

Memberships Websites

Affiliate links

Donations

Ebooks

Online courses

Coaching classes

ब्लॉग से कमाने का बहुत सारे तरीके हैं लेकिन सबसे फेमस तरीका Advertisement इसके माध्यम से ब्लाँगर कमाते है इसमें बहुत सारेAdvertise companies है लेकिन इसमे Google AdSense का सबसे पहले आता है क्योंकि यह एक ट्रस्टेड कंपनी है ब्लॉगर बराबर पैसा देता हैं।

Google Adsense का अप्रोवल लेने के बाद ब्लॉगर अपने ब्लॉग मे Adsense कोड अपने ब्लॉग के Head tagके निचे लगाते है इसके बाद ब्लाँगर के ब्लाग मे युजर कुछ पढने आते हैं तो उन्हें एड दिखता है जिसके बदले में ब्लाँगर को कुछ पैसा मिलता हैं।

अगर ब्लॉग पढते पढते एड के ऊपर क्लिक किया तो कुछ ज्यादा ही पैसा मिलता है जितने एड देखने से नहीं मिलते उतना एड पर क्लिक करने से मिलता है।अगर ब्लाँगर अपने ब्लॉग मे एड पर क्लिक किया तो इनव्यालीड अक्टिविस करके Google Adsense का अकाउंट रदद हो जाएगा।

Affiliate links

ब्लाँगर आफिलिएट लिंक से भी कमाते हैं बहुत सारे कंपनियां अपने प्रोडक्ट को बिकाने के आफिलिएट मार्केट रास्ता ब्लागर कोदिखाते है।ब्लाँगर अपने ब्लॉग मे किसी कंपनी का आफिलिएट का लिंक लगाते हैं तो कोइ युजर यानि पढनेवाले क्लिक करके बाय करते हैं तो ब्लाँगर को कुछ पैसा कंपनियां देती है।

ब्लॉगिंग क्या होता है?Blogging kya hota hai?आज ब्लॉगिंग से लोग कैसे कमाते हैं?

ऐसे आफिलिएट मार्केटिंग प्रोवाइड करनेवाले बहुत कंपनियां हैं लेकिन इसमें Amazon.in,Flipkart ऐसे कंपनियों का नाम आगे हैं

अगर आपको ब्लॉगिंग क्या होता है?Blogging kya hota hai?यह पोस्ट अच्छा लगा तो अपनेदोस्तों के साथ ब्लॉगिंग क्या होता है?Blogging kya hota hai? इस पोस्ट शेयर करें।अगर इसमे कुछ कमियां है तो कमेंट करके बतायीए इसमें सुधार ने का प्रयास जरूर करूँगा।मै आशा करता हूँ अभी आपको ब्लॉगिंग क्या होता है?Blogging kya hota hai? यह समझ में आया होगा।

अगर ब्लॉगिंग करना चाहते है तो इसके लिए आप चीफ आँड बेस्ट Hosting ले सकते है Goviralhost कंपनी से होस्टिंग ले सकते हैं, इसके लिए पैसे भी कम लगेंगे और सरव्हीस भी अच्छी मिलेगी।

Suresh Burla Sironcha Di- Gadchiroli State -Maharastra India

Leave a Reply