होस्टिंग क्या होता है : जानिए हिंदी मे

होस्टिंग क्या होता है

मैं आपको होस्टिंग क्या होता है इस पोस्ट के माध्यम से होस्टिंग के बारे मे बतानेवाला हू Hosting क्या है? होस्टिंग के प्राकार कितने हैं? अगर नया ब्लॉगर हैं तो कोणसे Hosting लेना जरुरी यह सब इसमें बतानेवाला हू ।अगर आप जानना चाहते हैं तो इस पोस्ट को अंततक पढे ताकी आपको पूरे समज मे आए। जब कोई ब्लॉग या वेबसाइट बना लेते है ,और ब्लॉग लिखने शुरुआत करते है इसका मतलब यह हुआ कि उन्होने जो लिखा हैं कहीं ना कहीं सेव करना पढता है, यह काम होस्टिंग द्वारा पूरा की जाती है।

यह काम सभी ब्लॉगर या वेबसाइट का ओनर नही कर सकते यह काम करनेके लिए बहुत सारे प्राबलेस हो सकते हैं जैसे कि चौबीस घंटे बिजली और इंटरनेट होना बहुत जरुरी है लेकीन ऐसा जनरली नहीं हो सकता। इतना ही यह आम ब्लॉगगर वेबसाइट का ओनर की बस बात नही है।इसलिए यह काम करनेका जिम्म कुछ कंपनीया उठाते है जिसके लिए ब्लॉगर या वेबसाइट ओनर से कुछ पैसे लेते हैं।

वेबसाइट इनास्टाल करने के उसे एक कंप्यूटर मे स्टोर करना होता हैं जहाँ से अपने वेबसाइट ओपन होता है इसके लिए सरवर की जरूरत होती है । सरव्हर के दो प्रकार होते हैं ,एक लिनक्स और दूसरा विंडोज सरव्हर, इनमेसे लिनक्स सरव्हर सस्ती होती है विंडोज महंगा होती हैं। बहुत सारे लोग लिनक्स सरव्हर का ही इस्तेमाल करते हैं जो ओपन सरव्हर माना जाता हैं।वेबसाइट ओपन होने के लिए डोमेन और सरव्हर आय.पी.अड्रेस की जरूरत होती है।

Control Panel –

अपने वेबसाइट होस्ट के लिए होस्टिंग खरीदते है तब हमें एक होस्टिंग कंपनी के ओर से Control Panel दिया जाएगा जहांसे अपने वेबसाइट आसानीसे आपरेट किया जा सकता है। इसे समज लेना ब्लॉगर के लिए बहुत जरुरी माना जाता है ,इसमें बहुत सारे अपशन्स या सेक्शनस होते हैं।

यह भी पढे-Self study कैसे करे?

File manager-

इस सेक्शन मे अपने वेबसाइट का पूरे फाइलस स्टोर रहेगा, इतना नहीं जब नया डोमेन अड करते है उसके फाइलस पूरे इसमें स्टोर हो जाते हैं।इसीलिए इसको एक महतवपूर्ण सेक्शन माना जाता है।

Domain section-

अपने वेबसाइट इनास्टाल करने के पहिले अपना डोमेन नेम ad करना होता है। इसमें भी हमें बहुत सारे अपशन दिखाई देंगे जैसे Domain, adondomain, और subdomain इनके काम आपको होस्टिंग खरीदने के बाद पता चलेगा।

Security-

इसमें सेक्युरिटी से रिलेटेड अपशन्स होते हैं जैसे SSL सरटिफिक इनेबल करना और सी.पनेल सेक्युरिटी से काम यहांसे कर सकते हैं।

Email-

यहां सेअपने वेबसाइट के लिए बिजनेस ई-मेल बना सकते और अपने ई-मेल को अपने जी मेल अकंउट मे मेल भेजने की व्यवस्था भी यहां से कर सकते हैं।

यह भी पढे-What is education?

SOFTACULOUS APPS INASTALLER-

इस सेक्शन मे आपको बहुत सारे अपशन्स दिखाई देंगे जहां से अपने वेबसाइट इनास्टाल कर सकते हैं। इसमें आपको WordPress Joomla और भी आपको दिखाई देंगे बहुत सारे लोग WordPress मे अपने वेबसाइट बनाते हैं।वो काम हमें यहीं से करना होता है।

इनके अलावा हमें सी.पनेल बहुत सारे सेक्शनस दिखाई देंगे जहां से वेबसाइट आपरेट किया जाता है इसलिए होस्टिंग मे सी.पनेल बहुत महत्व दिया जाता हैं।हमें वेबसाइट इनास्टाल करने के पहिले होस्टिंग और सी.पनेल को समजना जरुरी होता हैं।

होस्टिंग के प्रकार-

होस्टिंग क्या होता है यह एक घर जैसा होता है और डोमेन प्लाट जैसा होता है ,प्लाट लेने के बाद हमें घर बनाना ही होता हैं, ठीक इसी प्रकार हमें डोमेन खरीदने के हमें अपने वेबसाइट लाईव करने के हमें वेब होस्टिंग की जरुउत होती है।होस्टिंग की भी अलग अलग प्राकर होते हैं।

यह भी पढे-नये छात्र आय.ए.एस.परीक्षा की तयारी कैसे करें?

Shared hosting-

बहुत सारे ब्लॉगगरस shared hosting का ही इस्तेमाल करते हैं,shared hosting वो होता है जिसमें बहुत सारे वेबसाइटोमे होस्टिंग बांट दिया जाता है।यह बंटवारा दस लोग भी हो सकता है इस से जादा हो सकते है। यह काम होस्टिंग प्रोवाइडर कंपनी के उपर निरभर करता है। मानलीजिए किसी आदमी को रहने के लिए एक मकान चाहिए तो उसने एक बडे महल मे छोटासा कमरा लिया तो इसे शेरड होस्टिंग कह जा सकता हैं।

https://goviralhost.com/clientarea/aff.php?aff=1205

बहुत बडा महल मे एक छोटासा कमरा इसका मतलब यह महल बहुत सारे लोगों मे बांट दिया गया।जाहीरसी बात इसमें रहनेवाले लोगों को भी कम पैसा देना पडता हैं।ऐसा ही कुछ शेरड होस्टिंग होता है। इस होस्टिंग का इस्तेमाल जादातर नये ब्लॉगर ही करते है,और जिसके पास थोडा पैसा कम हैं ऐसे लोग भी करते हैं।शेरड होस्टिंग का इस्तेमाल करने के लिए किसी भी प्रकार कोडिंग लांगवेज की जरूरत नहीं है।

शेरड होस्टिंग का प्रोवाइड लगभग सभी होस्टिंग प्रोवाइडर कंपनियां करती हैं,लेकिन जानमानी कंपनियां अपने सरव्हीस के बदले पैसे भी जादा वसूलते हैं।जैसे Godaddy,Hostgeter, Namecheap और भी जानेमाने कंपनियां हैं जो जादा पैसा वसूलते हैं।लेकिन कहीं कंपनियां ऐसे भी हैं जो कम प्राइस मे अपने सरव्हीस देते हैं।जैसे GoviralHost, Herohosty और Hostinger ये सारी कंपनियां कम कीमत मे अपनी होस्टिंग प्रोवाइड करते है।

VPS Hosting –

VPS होस्टिंग शेरड होस्टिंग से कस्टलि होता है इसका इस्तेमाल एकदम नये ब्लॉगर नहीं कर सकते क्योंकि इसमे पैसा बर्बाद हो सकता है पहले पहले ट्राफिक तो नहीं आता इसलिए नये ब्लॉगर शेरड होस्टिंग का ही इस्तेमाल करना चाहिए। VPS होस्टिंग वह होता हैं जिसमें शेरड होस्टिंग से जादा और डेडिकेटेड होस्टिंग से कम हिस्सा मिलता हैं है।मानलिजीए आपको एक दुकान खोलना है तो आप इसके लिए एक रूम किराए पे लिया है।

इसमें आपको अपने रूम मे समान रखने के लिए जागा मिलेगा और आपको इसके साथ साथ लैट का सेपरेट एक मिटर मिलेगा और पानी पिने के लिए सेपरेट व्यवस्था रहेगीं।आपके कमरे मे जितनी भी स्पेस हैं इस मे सिर्फ़ आपका ही अधिकार होगा।इसमें और कोई आ नहीं आ सकता।यह बडा महल का हिस्सा होगा लेकिन आपको इसमें थोड़ा जादा अधिकार होगा।

Interserver Web Hosting and VPS PlansPost name

VPS होस्टिंग डेडीकेटेड होस्टिंग का हिस्सा होता हैं, डेडीकेटेड होस्टिंग का कई हिस्सों मे डिवाइड किया जाता हैं,और हमें प्रोवाइड किया जाता है।इस मे अपने होस्टिंग का हिस्सा और कोई इस्तेमाल नहीं कर सकता हैं। VPS होस्टिंग भी लगभग सभी होस्टिंग प्रोवाइडर कंपनियां सरव्हीस प्रोवाइड करते हैं।

Dedicated hosting –

डेडिकेटेड सरव्हर या होस्टिंग मे पूरे एक सी.पी.यु दिया जाता हैं इसका प्राइस भी बहुत जादा रहेगा।डेडीकेटेड होस्टिंग का इस्तेमाल आमतौर पर बडे बडे ब्लॉगर ही करते हैं, इसका प्राइस लगभग सात हजार से लेकर के पच्चास हजार तक रहती हैं या फिर इस से भी जादा हो सकती हैं।इसका इस्तेमाल ई-कामर्स कंपनियां करते हैं, जैसे amazon,Flipkart और snapdeal सामान्य भाषा मे बताऊ तो यह बडा महल इसका सिर्फ इस्तेमाल करनेवाला इनसान भी एक ही होगा। पूरे महल मे अकेला इनसान राज करेगा, एक ही इनसान अपने दुकान खोलके बैठेगा।

इसमें एक या इससे भी जादा सी.पी.यु मिलेंगे 8 GB या इससे जा दा रँम हमें इस्तेमाल करने के लिए मिल जाएंगें।आपको यह याद रखना होगा कि डेडिकेटेड होस्टिंग किसी भी होस्टिंग मे से एक हिस्स नही मिलेगा पूरे सरवहर ही मिल जाएगा।

Cloud hosting-

Cloud hosting क्या होता हैं एक सरव्हर से नही बल्की बहुत सारे सरव्हर से होस्टिंग कनेक्ट होता है, जिससे वेबसाइट कभी भी डऊन होने की संभावना ना के बराबर होता है।अगर एक सरव्हर डाऊन हो गयीं तो अपने वेबसाइट दुसरे सरव्हर मे लोड जाती है।इसलिए जो ब्लॉगर अडवानस हैं और ब्लगिंग अपने करीअर बनाना चाहते हैं वो सभी ब्लॉगर Cloud hosting lete. लेते. हैं।यह कफी पापुल और अच्छी होस्टिंग मानी जाते है।

WordPress hosting-

WordPress hosting और शेरड होस्टिंग इसमें जादा फरक नही एक जैसा ही होता हैं ।लेकीन वेबहोस्टीग कंपनियां अपने होस्टिंग सेल करने केलिए ऐसे हरकतें करते है।अगर आपके वेबसाइट वर्डप्रेस मे हैं तो आप इसके साथ जा सकते हैं।और इसी प्रकार Power hostingऔर business hosting एसे प्रकार पाया जाता हैं।

अगर आपको होस्टिंग क्या होता है यह पोस्ट समज मे आया तो अपने दोस्तों मे जरूर शेयर करे ।कुछ समज मे नही आया आ तो कंमेंट करके जल्दी बतायीए मै आप लोगों का समास्य दूर करनेका प्रयास जरूर करुंगा।आशाा करता हु होस्टिंग क्या होता है यह पोस्ट समज आया होगा।

Suresh Burla Sironcha Di- Gadchiroli State -Maharastra India

Leave a Reply